Tuesday , 24 April 2018
Breaking News
Home » Hot on The Web » 2 वर्ष की ‘चाइल्ड केयर लीव’ महिलाओं को कई बड़ी सौगातें

2 वर्ष की ‘चाइल्ड केयर लीव’ महिलाओं को कई बड़ी सौगातें

जयपुर। राज्य सरकार ने सोमवार को विधानसभा में बजट पेश करते हुए आगामी विधानसभा चुनावों को देखते हुए सभी को ध्यान में रखकर घोषणाएं की। राज्य की महिलाओं को इस बार बजट से काफी उम्मीदें थी जिन्हें सरकार ने पूरा करने का प्रयास किया है। सरकार ने बजट में बालिकाओं और महिलाओं को लेकर काफी घोषणाएं की हैं। बजट घोषणा में महिलाओं लिए सबसे बड़ी राहत ‘‘चाइल्ड केयर लीव’’ की घोषणा है। बजट में महिलाओं को मिली ये बड़ी सौगातें…

‘चाइल्ड केयर लीव’ की घोषणा
महिला कर्मचारियों की लंबे समय से ‘‘चाइल्ड केयर लीव’’ दिये जाने की मांग रही है। इस बजट में राज्य सरकार ने महिला कर्मचारियों की इस मांग को ध्यान में रखते हुए उनकी इस इच्छा को पूरा किया है। बजट में महिला कर्मचारियों को पूरी सेवा अवधि में 18 वर्ष से कम आयु के बच्चों की देखभाल हेतु अधिकतम 2 वर्ष की ‘‘चाइल्ड केयर लीव’’ का प्रावधान किए जाने की घोषणा की है।
आंगनबाड़ी महिला कर्मियों का बढ़ाया मानदेय
सरकार ने इस बजट में महंगाई को ध्यान में रखते हुए महिला मानदेयकर्मियों का मानदेय बढ़ाते हुए आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को 4730 रूपए के स्थान पर 6 हजार रूपए, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को 3365 रूपए के स्थान पर 4500 रूपए, सहायिका को 2565 के स्थान पर 3500 रूपए, साथिन को 2 400 रूपए के स्थान पर 3300 एवं आशा सहयोगिनी को 1850 रूपए के स्थान पर 2500 रूपए प्रतिमाह देने की घोषणा की है।
1 लाख 84 हजार महिला मानदेयकर्मी होंगी लाभान्वित
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता तथा मानदेयकर्मियों द्वारा देय अंशदान को समाप्त करते हुए, प्रीमियम की शत-प्रतिशत राशि राज्य सरकार द्वारा वहन करने की घोषणा की। साथ ही इस बीमा योजना के लाभान्वितों में साथिन को शामिल करते हुए, राज्य सरकार के अंशदान को 1 करोड़ 45 लाख से बढ़ाकर 5 करोड़ रूपए करने की घोषणा की है। इस योजना से भविष्य में 1 लाख 84 हजार महिला मानदेयकर्मी लाभान्वित होंगी।
सेनेट्री पेड्स उपलब्ध करवाने की घोषणा
राज्य सरकार ने बजट में 15 से 45 आयु वर्ग की ग्रामीण बालिकाओं एवं महिलाओं में महावारी समस्या के दौरान होने वाली परेशानियों को ध्यान में (शेष पेज 8 पर)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*