Thursday , 23 November 2017
Breaking News
Home » Hot on The Web » सेल्फी का लगा ऐसा चस्का कि 6 को करवाना पड़ा अस्पताल में भर्ती

सेल्फी का लगा ऐसा चस्का कि 6 को करवाना पड़ा अस्पताल में भर्ती

selfiecideपिछले कुछ महीनों में कम से कम तीन मामले एम्स में और तीन श्री गंगा राम हॉस्पिटल में दर्ज हुए है जो कि सेल्फीसाइड से पीडि़त हैं। यह एक कम्पलसीज डिसऑर्डर है जिसमें मोबाइल फोन के सामने लगातार और बार-बार पोज दिया जाता है और लोगों के फीडबैक के लिए तस्वीरें शेयर की जाती है। एम्स में ये तीनों मरीज अपने बॉडी पोश्चर्स को लेकर जानना चाहते थे और उनमें बॉडी डिस्मॉर्फकि डिसऑडर विकसित हो गया था।
यह है ‘स्द्गद्यद्घद्बष्द्बस्रद्ग’
इस डिसऑर्डर से पीडि़त व्यक्ति हरदम मिरर में देखता रहता है या खुद की तस्वीरें लेता रहता है। इन युवाओं के माता-पिता ने कहा कि उनके बच्चों में एक असामान्य व्यवहार देखने को मिला जब उन्हें सेल्फी क्लिक करने और उन्हें सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर शेयर करने से रोका गया। एक लड़की का केस को हैंडल कर रहे एम्स मनोरोग ईकाई के डॉ. नंद कुमार ने कहा सेल्फीसाइड से पीडि़त लड़की यह आश्वासन चाहती थी कि वह पूरे दिन सुंदर दिखें और उसके लिए वह इंस्टाग्राम और फेसबुक जैसी सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट्स पर अपनी तस्वीरें पोस्ट करती रहती है ताकि लोगों का ब्यू मिल सके। उसने अपने कॉलेज का समय भी बहुत व्यर्थ किया और यहां तक कि खाना भी। वह अनहेल्दी लाइफस्टाइल जीने लगी।
चिकित्सा विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसे डिसऑर्डर के लक्षम इतने सूक्ष्म हैं कि कई यूजर्स को तनाव के कारण का पता नहीं चलता। अमेरिकन साइकोलॉजिकल एसोसएिशन के अनुसार लगभग 60 प्रतिशत महिलाएं सेल्फीसाइड से पीडि़त हैं और उन्हें यह पता ही नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*