Friday , 21 July 2017
Breaking News
Home » Hot on The Web » एक समाज तो बेटियों के शरीर की कमाई खाने को समझता है शान

एक समाज तो बेटियों के शरीर की कमाई खाने को समझता है शान

Views:
5

girlsग्वालियर। देह व्यापार के लिए बेडिय़ा समाज के लोग बच्चियां खरीदते हैं। यहां पुरानी छावनी थाना क्षेत्र के हाईवे पर बदनपुुरा-रेशमपुरा के नाम से बस्ती है। इसके अलावा मुरैना, शिवपुरी, भितरवार, भिंड, डबरा में इनके डेरे हैं।
बेडिय़ा जाति के लोग बच्चियों को खरीदकर इनकी परवरिश करते हैं। इनके 10 से 12 साल के होने पर इनसे देह व्यापार कराते हैं।
चूकि इनकी परवरिश इसी माहौल में होती है तो बच्चियां बगैर कोई विरोध किए गलत काम करने के लिए मजबूर हो जाती है। इस समाज के लोग परंपरा के अनुसार घर की पुत्रवधु को छोड़कर बेटियों से गलत काम कराते हैं। वक्त के साथ अब लोग अपनी बेटियों से भी गलत काम कराने से बचते हैं।
अब यह लोग खरीदी गईं बच्चियों से ही गलत काम कराते हैं। यह लोग कम उम्र के बच्चियों को खाड़ी देशों में देह व्यापार के लिए भेजते हैं। इसके अलावा बच्चियों को डांस बारों में भेजते हैं। इस समाज में पुरुष कोई काम धंधा नहीं करते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*