Thursday , 21 June 2018
Breaking News
Home » Hot on The Web » अब ओबीसी में 390 करोड़ का घोटाला

अब ओबीसी में 390 करोड़ का घोटाला

दिल्ली की हीरा निर्यातक कंपनी पर सीबीआई ने कसा शिकंजा

नई दिल्ली। पीएनबी महाघोटाले के बाद अब राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र स्थित ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स में करीब 389 करोड़ 90 लाख रूपये की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। मामले में दिल्ली के हीरा निर्यातक कंपनी के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।
हरियाणा स्थित गुरूग्राम के सेक्टर-32 स्थित ओबीसी बैंक के ब्रांच से यह फर्जीवाड़ा हुआ है। लिहाजा बैंक के एजीएम स्तर के अधिकारी ने इस मामले की जानकारी सीबीआई को लिखित तौर पर दी और सीबीआई ने मामला दर्ज करके तफ्तीश शुरू कर दी है। बैंक द्वारा इस मामले की जानकारी पिछले साल 16 अगस्त को दी गई थी।
इस फर्जीवाड़े की गंभीरता को देखते हुए सीबीआई ने दिल्ली के ज्वेलर समेत कई लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। मामले में बैंकों से साल 2007 से लगातार फर्जीवाड़ा करके लोन लेने का आरोप है। बैंक को पैसे नहीं चुकाने के बावजूद मामले में लापरवाही दिखाई गई।
दिलचस्प बात यह है कि बैंक ने 31 मार्च 2014 को कंपनी को एनपीए के लिस्ट में भी डाल दिया था, लेकिन उसके बाद भी यह खेल जारी रहा। एनपीए की लिस्ट में शामिल होने के बावजूद कंपनी को करोड़ों का लोन मिलता रहा।
सीबीआई के अधिकारियों के मुताबिक दिल्ली की मेसर्स द्वारिका दास सेठ इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड और द्वारका दास सेठ सेज इनकॉरपोरेशन नाम की कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। ये कंपनी दिल्ली के करोलबाग में स्थित है। मामले में सीबीआई ने जिनके खिलाफ केस दर्ज किया है, उसमें कंपनी के मालिक सभ्य सेठ और रिता सेठ के अलावा कृष्ण कुमार सिंह, रवि कुमार सिंह समेत कई सरकारी अधिकारी शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*