Friday , 25 May 2018
Breaking News
Home » Entertainment » फिल्म ‘इंटरस्टेलर’ के बजट से भी कम में इसरो का ‘चंद्रयान-2’

फिल्म ‘इंटरस्टेलर’ के बजट से भी कम में इसरो का ‘चंद्रयान-2’

नई दिल्ली। भारत का अगला महत्वाकांक्षी अंतरिक्ष मिशन ‘चंद्रयान-2’ हॉलिवुड फिल्म ‘इंटरस्टेलर’ (अंतरिक्ष आधारित फिल्म) की लागत से भी सस्ता है। 2014 में आई फिल्म ‘इंटरस्टेलर’ का बजट करीब 1,062 करोड़ रूपये का था, वहीं ‘चंद्रयान-2’ मिशन पर 800 करोड़ रूपये खर्च हुए हैं। इससे पहले भारत का ‘मंगलयान’ मिशन उस साल आई हॉलिवुड फिल्म ‘ग्रैविटी’ से सस्ता था। मंगलयान पर 470 करोड़ रूपये खर्च हुए थे और ग्रैविटी फिल्म को बनाने में 644 करोड़ रूपये। सवाल यह है कि इसरो दूसरे ग्रहों तक भी इतने सस्ते में कैसे पहुंच पाता है?
इसरो के चेयरमैन डॉ. के. सिवन ने बताया कि इसका कारण स्पेस मिशन को सादे ढंग से पूरा करना है। उन्होंने समझाया, सिस्टम को सिम्पल बनाना, बड़े सिस्टम को छोटा और सादा बनाना, क्विलिटी कंट्रोल और आउटपुट को बढ़ाना हमारे प्रॉडक्ट्स और मिशन को सस्ता बनाता है। हम स्पेसक्राफ्ट या रॉकेट को डिवेलप करने की प्रक्रिया के हर स्टेज पर नजर रखते हैं, जिस कारण हम प्रॉडक्ट्स की बर्बादी रोक पाते हैं जिससे कॉस्ट कम हो जाती है।
इसरो चंद्रयान मिशन को अप्रैल में लॉन्च करने की कोशिश करेगा। इस मिशन के तहत चंद्रमा की सतह पर सॉफ्टलैंडिंग के साथ रोवर वॉक होगी। हालांकि लॉन्च डेट को तय करने से पहले कई फैक्टर्स को देखना होगा। डॉ. सिवन ने कहा, हम सुबह से शाम तक की लैंडिंग की कोशिश में हैं और रोवर वॉक की भी। अगर हम कई कारणों की वजह से अप्रैल में यह लैंडिंग नहीं करा पाए तो नवंबर में मिशन लॉन्च करेंगे। अगर हम अप्रैल से नवंबर के बीच लॉन्च करने की कोशिश करेंगे तो सुबह से शाम तक लैंडिंग संभव नहीं हो पाएगी। लॉन्च के लिए बेस्ट समय महीने में एक बार ही आता है।
नासा के अपोलो और रूस के लूना मिशन में रोवर चंद्रमा के भूमध्य हिस्से में उतरा था, वहीं इसरो रोवर को साउथ पोल में लैंड कराने की प्लानिंग कर रहा है। इसरो के चेयरमैन ने बताया कि साउथ पोल को लैंडिंग के लिए चुनने की वजह यह है कि इस भाग में अरबों साल पुराने पत्थर हैं। सतह और पत्थरों की मदद से चंद्रमा के बारे में काफी कुछ जानने को मिलेगा और अंतरिक्ष की समझ बढ़ेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*