Saturday , 19 August 2017
Breaking News
Home » Business » सोने की मांग 30 फीसदी बढ़ी

सोने की मांग 30 फीसदी बढ़ी

Views:
6

नयी दिल्ली। साल की पहली छमाही में भारत में पीली धातु की मांग 30 फीसदी बढ़कर 298.4 टन दर्ज की गयी और इस दौरान इसका आयात भी 50 फीसदी से अधिक की छलांग लगाता हुआ 518.6 टन हो गया है।
विश्व स्वर्ण परिषद् (डब्ल्यूजीसी) की जारी रिपोर्ट के अनुसार, भारत में आमतौर पर साल की दूसरी छमाही में सोने का आयात बढ़ जाता है, लेकिन इस साल ऐसा होने की संभावना बहुत कम है। दरअसल वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के 1 जुलाई से लागू होने से पहले ही सर्राफा कारोबारियों ने इसके तहत कर दरों में बढोतरी को भाँपते हुए अपना स्वर्ण भंडार बढा लिया है। इसी वजह से गत छमाही में भारत में सोने के आयात में दुगुनी से अधिक तेजी दर्ज की गयी है।
सोने की खपत के मामले में पूरी दुनिया में दूसरे स्थान पर रहने वाले भारत में जीएसटी लागू होने के बाद सोने पर कर की दर 1.2 प्रतिशत से बढ़कर 3 प्रतिशत हो गयी है।
भारत में परिषद् के प्रबंध निदेशक सोमसुंदरम पी.आर. ने कहा कि कर की दरों में बढोतरी की संभावना को देखकर कुछ आयात और दूसरी छमाही की मांग भी पहली छमाही में पूरी कर ली गयी है। भारत में आने वाले कुछ सप्ताह के दौरान सोने की मांग सुस्त रहने की संभावना है क्योंकि जिन्होंने पहली छमाही में इसकी खरीदारी की है, वे आने वाले कुछ समय में खरीदारी से कोताही बरतेंगे।
स्वर्ण परिषद् ने साथ ही भारत में सोने की तस्करी बढऩे की संभावना का भी जिक्र किया है। सोमसुंदरम के अनुसार गत साल भारत में करीब 120 टन सोने की तस्करी की गयी थी। इस साल यह आंकड़ा कहीं अधिक हो सकता है क्योंकि कर शुल्क अधिक रहने से तस्करी को बढावा मिलेगा। भारत में सोने का आयात शुुल्क अगस्त 2013 से बढ़कर 10 प्रतिशत हो चुका है। परिषद् के अनुसार, देश में इस साल सोने की मांग 650 से 750 टन के बीच रहने का अनुमान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*