Friday , 24 March 2017
Top Headlines:
Home » Business » देशभर के पेट्रोल पंपों पर आयकर जांच

देशभर के पेट्रोल पंपों पर आयकर जांच

नई दिल्ली। इनकम टैक्स विभाग ने नोटबंदी के दौरान पेट्रोल पंपों में ब्लैक मनी को वाइट करने का काम होने की आशंका के चलते पेट्रोल पंपों पर सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। इस सर्च ऑपरेशन से पेट्रोल पंप डीलरों में भारी नाराजगी है। वे हड़ताल में जाने की तैयारी कर रहे हैं। इधर, एलपीजी डिस्ट्रिब्यूटर्स के यहां पर टैक्स विभाग के सर्च ऑपरेशन की बात सामने आ रही है। ऐसे में एलपीजी डिस्ट्रिब्यूटर्स असोसिएशन ने कहा है कि अगर पेट्रोल पंप डीलर हड़ताल करेंगे तो वे भी उसका साथ देंगे।
जुटाए जा रहे हैं दस्तावेज
सूत्रों के अनुसार, दिल्ली में करीब 17 पेट्रोल पंपों पर सर्च ऑपरेशन को अंजाम दिया गया है। देशभर में करीब 125 पेट्रोल पंपों पर इसी तरह का ऑपरेशन चलाया गया है। आगे भी यह कार्रवाई जारी रहेगी। इन पेट्रोल पंपों से नोटबंदी के दौरान सेल्स, बैंक डिपॉजिट और पेट्रोलियम प्रॉडक्ट के सभी आंकड़ें व इससे संबंधित दस्तावेज जुटाए जा रहे हैं। टैक्स विभाग यह पता लगाने की कोशिश कर रहा है कि नोटबंदी के दौरान पेट्रोल पंप मालिकों की ओर से किया गया बैंक डिपॉजिट उनकी सेल्स से मेल खा रहा है या नहीं। टैक्स अधिकारियों के अनुसार सरकारी ऑयल कंपनियों से डेटा मांगा गया है, ताकि एक्स्ट्रा डिपॉजिट की ठीक से छानबीन हो सके।
हड़ताल पर जाएंगे डीलर?
इनकम टैक्स विभाग के सर्च ऑपरेशन से पेट्रोल पंप डीलरों में गुस्सा है। ऑल इंडिया पेट्रोल पंप डीलर्स असोसिएशन के अध्यक्ष अजय बंसल ने एनबीटी से बातचीत में कहा कि उन्होंने इनकम टैक्स, बैंक और तेल कंपनियों को नोटबंदी के दौरान सेल्स, कैश और अन्य सभी आंकड़ें व दस्तावेज जमा करा दिए हैं। अगर विभाग को इन दस्तावेजों में कुछ गडबड़ी मिलती है तो उसके पास कार्रवाई का अधिकार है। अगर जांच में हमारे खिलाफ कोई गड़बड़ी मिली है तो वे कार्रवाई करें, पेनल्टी लगाएं। जल्द ही इस पर फैसला लिया जाएगा।
सूत्रों का कहना है कि सर्च ऑपरेशन प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत किया जा रहा है। दरअसल, ब्लैक मनी का खुलासा करने वाली इस स्कीम के तहत सरकार को ज्यादा सफलता नहीं मिली है। ऐसे में सरकार चाहती है कि इस कार्रवाई से पेट्रोल पंप और एलपीजी डिस्ट्रिब्यूटर्स के पास अगर ब्लैक मनी है, तो उसको निकाला जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*