Friday , 24 March 2017
Top Headlines:
Home » Rajasthan » 1950 से लाभ दिया होता तो आज चिन्तन की जरूरत नहीं होती : कटारा

1950 से लाभ दिया होता तो आज चिन्तन की जरूरत नहीं होती : कटारा

सागवाड़ा। नगर के मडकोला सागवाड़ा में रविवार को आयेाजित हुई आदिवासी परिवार व भील ऑटोनमस कौसिंल के संयुक्त चिन्तन शिविर में डूंगरपुर के विधायक देवेन्द्र कुमार कटारा जमकर गरजे जिसनें राज्य व केन्द्र सहित पूर्व सरकार पर खूब बरसे। कटारा ने कहा कि आदिवासियों को 1950 से लाभ दिया होता तो आज चिन्तन शिविर की जरूरत नहीं पड़ती। आज आदिवासियों को व्यापार के माध्यम से गुलाम बनाया जा रहा है। आदिवासी को क्या दिया कोई भी सरकार बताये।
शिविर में प्रात: से ही अलग-अलग वाहनों में लोग ढ़ोल, नगाड़े, तीर कमान, तलवारों व ल_ के साथ नाचते गाते गेर करते स्थल पर पहुंचे। स्थल को लेकर मुख्य सड़क पर चुने से चिह्नित किया गया था जिसके माध्यम से भील आदिवासी समाज के लोग आदिवासी एकता जिन्दाबाद, जय जौहार यह भारत देश हमारा है सहित कई नारे लगाते हुए पहुंच रहे थे। शिविर को सम्बोधित करते हुए राजकुमार भील खेरवाड़ा ने कहा की यह लड़ाई लम्बी है जिसे हमें कानून के दायरे में रहकर लडऩा है। पूर्व जिला प्रमुख बक्सीराम रोत पाडलीया ने कहा आदिवासियों की समस्या पर कोई सरकार विचार नहीं कर रही है। शिविर में वर्तमान सरकार के एक मात्र डूंगरपुर विधायक देवेन्द्र कटारा ने ही भाग लिया । अब डूंगरपुर जिले में रैली निकलेगी। मणीलाल गरासीया बासवाड़ा ने कहा भारत देश आदिवासियो का है, जय जवाहर की शक्ति को समझना होगा।
छावनी बना था शिविर स्थल व आस पास का क्षैत्र
शिविर में कानुन व्यवस्था के मध्य नजर प्रशासन व पुलिस विभाग के निर्देशन में कार्यक्रम स्थल के पास का ऐरीया व नगर पुलिस प्रशासन की छावनी बना हुआ नजर आ रहा था चप्पे-चप्पे पर पुलिस के जवान व अधिकारी नजरे लगाये बैठे थे।
जिला कलेक्टर सुरेन्द्र कुमार सौलकी के निर्देशन में उपखण्ड अधिकारी गोपालसिह शेखावन के मार्ग दर्शन में तहसीलदार सागवाड़ा सुबोधसिंह चारण, गलियाकोट तहसीलदार, गिरधावर हिरण्य गर्भ पाटीदार, गिरधावर नरेन्द्रसिंह वरदा, पटवारी देवेन्द्रसिंह सहित कई अधिकारी स्थल व आस-पास डेरा लगाये बैठे थे। जिला पुलिस अधिक्षक राजीव पचार के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधिक्षक रामजीलाल को सागवाडा भेजा गया, जिनके आदेश पर पुलिस उपअधिक्षक अनिल मीणा के मार्ग दर्शन में बांसवाड़ा महिला थाना प्रभारी देवीलाल, डूंगरपुर महिला थाना प्रभारी मनोज सामरीया, सागवाड़ा थाना प्रभारी गोविन्दसिंह राजपुरोहित, वरदा थाना प्रभारी लक्ष्मणलाल, चितरी थाना प्रभारी मोहनसिंह, निठाऊवा थाना प्रभारी भगवान लाल, आसपुर थाना प्रभारी सुनिल शर्मा, कुआ थाना प्रभारी मुकेश, आरआई पुलिस लाईन ब्रजेश कुमार सहित सर्कल के थाना प्रभारी मय जाब्ता तथा डूंगरपुर से करीब 190 पुलिस के जवान स्थल के आस-पास व नगर के मुख्य चौराह पर तैनात कीये गये थे जो पल-पल की खबर अधिकारियों को पहुंचा रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*