Monday , 27 March 2017
Top Headlines:
Home » Udaipur » नोटबन्दी ऐतिहासिक कदम, काले धन पर लगेगा अंकुश : यशोदा बेन

नोटबन्दी ऐतिहासिक कदम, काले धन पर लगेगा अंकुश : यशोदा बेन

yashoda_benउदयपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की धर्मपत्नी यशोदा बेन ने हाल ही में हुई नोट बंदी का समर्थन करते हुए कहा कि सरकार का और प्रधानमंत्री का यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण कदम था जिससे काले धन पर रोक लगेगी। यशोदा बेन बुधवार को यहां धोल की पाटी स्थित ज्ञान मंदिर विद्यालय के स्वर्ण जयंती वर्ष के मुख्य समारोह में मुख्य अतिथि के रुप में संबोधित कर रही थी।उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार विभिन्न योजनाओं के जरिए महिलाओं के हितों की रक्षा कर रही है और महिला सशक्तिकरण की दिशा में बहुत सारी योजनाएं बना रही है। उन्होंने बच्चों की शिक्षा के लिए और महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए की जा रही केंद्र सरकार की योजनाओं की मुक्तकंठ से तारीफ की। उन्होंने इस अवसर पर छात्रावास भवन का शिलान्यास भी किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता महेश भाई गांधी ने की जबकि मुख्य अतिथि डी सी जैन थे। विद्यालय की प्रधानाचार्य ज्योत्स्ना शर्मा ने स्वर्ण जयंती वर्ष में आयोजित तमाम कार्यक्रमों का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया वही समिति के चुनाव की घोषणा समिति के मंत्री टीकम चंद असावरा ने की। समिति के अध्यक्ष सलील सिंघल का संदेश यौवन्तराज माहेश्वरी ने पढ़ कर सुनाया। इस अवसर पर समिति की ओर से विद्यालय परिवार में भवन निर्माण में सहयोग करने वाले विभिन्न भामाशाहों का अभिनंदन एवं सम्मान किया गया। इसमें हेमलता असावरा, चेनराज छाजेड़, जीआर अग्रवाल, डॉ कमल किशोर पोरवाल, संतु देवी जैन,पुष्पा देवी असावरा, जमनालाल तिवारी, कुंज बिहारी मूंदड़ा को प्रशस्ति पत्र, रजत पदक व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।इस अवसर पर जशोदाबेन को स्मृति चिन्ह भेंट कर विद्यालय परिवार, स्वर्ण जयंती समारोह समिति एवं पूर्व छात्र परिषद स्वयं की ओर से हार्दिक अभिनंदन किया गया। विद्यालय परिवार ने रजत मंडित लड्डू गोपाल और स्वयं की ओर से श्रीनाथजी की प्रतिमा भेंट की गई। इस अवसर पर छात्र छात्राओं ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के जरिए दर्शकों का मन मोह लिया। यशोदाबेन ने ज्ञान मंदिर विद्यालय के 27 कमरो के बनने वाले छात्रावास भवन का शिलान्यास भी किया, वहीं विद्यालय के बनने वाली ऑडिटोरियम का शिलान्यास सिंघल समूह की शीतल सिंघल ने किया।
बच्चों की सांस्कृतिक प्रस्तुतियों से प्रसन्न हो कर यशोदाबेन ने अपनी तरफ से दो हज़ार रुपये का नकद पुरस्कार प्रदान किया। कार्यक्रम का संचालन डा कुंजन आचार्य ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*