Wednesday , 18 January 2017
Top Headlines:
Home » India » बर्फानी हवाओं से छूटी धूजणी

बर्फानी हवाओं से छूटी धूजणी

coldपहाड़ों पर बर्फबारी के बाद सर्दी अब प्रदेश में भी कहर बरपा रही है। यहां सर्दी का असर बढ़ गया है। उदयपुर संभाग में भी पिछले दो दिन से शीतलहर ने कंपकंपी छुड़ा रखी है। मंगलवार को सर्द हवाओं ने ठिठुरन को और अधिक बढ़ा दिया। स्वेटर पहनने के बाद भी दिनभर धूजणी छूटती रही। राहगीरों को दिन में भी रात जैसी ठंडक का अहसास हुआ। रात को सर्दी का जोर और बढ़ गया। सर्दी के साथ ही गलन का भी अहसास हुआ। अलसुबह से ही लोगों की दिनचर्या देर से शुरू हुई। सरकारी स्कूलों में शीतकालीन अवकाश खत्म होने के बाद बच्चे ठिठुरते हुए स्कूल जा रहे हैं जिन्हें देखकर अभिभावक अब फिर से स्कूलों में अवकाश की मांग करने लगे हैं। ठिठुरन से मवेशी भी परेशान हो रहे हैं।
उदयपुर में दिनभर धुंध और बादलों का असर रहा। भरी दुपहरी में भी आस-पास की पहाडिय़ां धुंध के कारण दिखाई नहीं दी। इसके अलावा दृश्यता भी कम रही। दिन चढऩे के बाद भी हल्की धूप खिली मगर उसका असर नगण्य ही रहा। जो भी घर से निकले, पूरी तरह से ठंड से बचाव के साथ ही निकले। शाम को सड़कें सूनी हो गई, बाजार जल्दी बंद हो गए। कई जगहों पर लोग अलाव तापते नजर आए। मौसम विभाग के अनुसार मंगलवार को न्यूनतम तापमान 7.4 डिग्री दर्ज किया गया जो सोमवार को 11.4 था, तापमान में 4 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। पिछले साल इसी दिन तापमाप 10 डिग्री था।
इधर, सोमवार को अधिकतम तापमान 20.8 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार एक सप्ताह से उत्तर पश्चिम भारत में मौसम बदलने से मेवाड़ और प्रदेशभर में सर्दी तेज होने की संभावना है जो अगले तीन-चार दिन में और अधिक बढ़ेगी। बादल छंटने के साथ सर्दी का असर भी अब दिखाई देने लगा है। हालांकि यह गेंहू की पैदावार के लिए अच्छी है मगर कहीं-कहीं मावठ भी हो सकती है। मौसम विभाग के वैज्ञानिकों ने प्रदेश में चल रही शीतलहर के कारण पूर्वी एवं (शेष पेज 8 पर)राजसमंद में स्कूलों का समय बदला
राजसमंद। जिला कलक्टर अर्चना सिंह ने एक आदेश जारी कर जिले मेें शीतलहर का प्रकोप होने से छात्रहित को ध्यान में रखते हुए जिले में संचालित समस्त राजकीय/ गैर राजकीय प्राथमिक/उच्च प्राथमिक/ माध्यमिक/ उच्च माध्यमिक विद्यालयों में कक्षा एक से 8 के विद्यार्थियों के लिए 11 जनवरी से 14 जनवरी तक विद्यालयों में अध्ययन का समय प्रात: 11 बजे से दोपहर 3.30 बजे तक किया है। आदेश के अनुसार समस्त शिक्षक/कर्मचारी राजकीय नियमों के अनुसार विद्यालयों में कार्य सम्पादित करेंगे। यह आदेश केवल बालकों के अध्यापन समय में संशोधन के लिए जारी किया गया है। फलौदी (-) 0.5 हुआजयपुर। देश के उत्तरी पहाड़ी इलाकों में हो रही बर्फबारी के कारण समूचे प्रदेश में कोहरे और शीतलहर के चलते ठंड का असर बढ़ गया है। प्रदेश में फलोदी ठंडा रहा जहां तापमान (-) 0.5 डिग्री सेल्सियस रहा।
मौसम विभाग के वैज्ञानिकों ने प्रदेश में चल रही शीतलहर के कारण पूर्वी एवं उत्तरी राजस्थान में आगामी 24 घंटों में तापमान में मामूली अंतर आने की संभावना व्यक्त की है। मौसम विभाग के अनुसार अभी राजस्थान में मावठ की बारिश होने के आसार नहीं है लेकिन घना कोहरा छाया रहेगा।
प्रदेश में बढ़ती ठंड के कारण समूचा जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है वहीं कोहरे के कारण रेल एवं सड़क यातायात प्रभावित होने के साथ ही सड़कों पर वाहन चालकों को दिन में भी लाईट का उपयोग करना पड़ा है।
स्थानीय मौसम विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिकों के अनुसार ठंड का सर्वाधिक असर जोधपुर जिले के फलोदी में रहा जहां तापमान (-) 0.5 डिग्री तक पहुंच गया है। इसके अलावा पर्यटक स्थल माउंट आबू में भी पारा गिरकर 1डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है। प्रदेश के अन्य शहरों बीकानेर और चुरू में दो-दो, श्रीगंगानगर 4, सीकर 4.5, जयपुर 7.4, जोधपुर 6.1, बाडमेर 7, डबोक 7.4, कोटा में 9.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राजधानी जयपुर में सुबह कोहरा छाया रहने से हवाई सेवा सहित रेल और सड़क यातायात प्रभावित रहा। कोहरे के कारण लगभग डेढ़ दर्जन से अधिक यात्री गाडिय़ां घंटों विलंब से चल रही है। प्रदेश में कुछ हिस्सों में बूंदाबांदी के भी समाचार मिले है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*