Monday , 24 April 2017
Top Headlines:
Home » Hot on The Web » 70s में टूरिस्ट यहां खुलेआम करते थे ऐसे काम

70s में टूरिस्ट यहां खुलेआम करते थे ऐसे काम

दुनिया में वैसे तो काफी फैमेस सिटी है, जिनकी अपनी अलग खासियत होती है। ऐसे ही गोवा बड़े और खूबसूरत बीच के लिए मशहूर शहर कहलाता है। गोवा का नाम सुनते ही लोगों के दिलों में खुशी आने लगती है। समुद्रों के बीच बसे इस टूरिज्म स्टेट में सालभर लोगों की भीड़ लगी रहती है। इतना ही नहीं , यहां त्यौहारों को काफी धूम-धाम से मनाया जाता है, बहुत से लोग अपने फैस्टिवल को एन्जॉय करने के लिए यहां चले आते है। इसके अलावा होली का त्योहार यहां आएं टूरिस्टों की मौज-मस्ती को और भी खास बना देता है । त्योहारों की बात तो अलग है लेकिन क्या आपको पता है, 1970 में टूरिस्ट कैसे पार्टी करते थे। अगर नहीं तो आज हम आपको इसी के बारे में बताने जा रहे है। आइए जानते 70-80 के दश्क में कैसे होती थी पार्टीज।

1. 40-50 साल पहले गोवा में डीजे और डिस्को जैसी कोई चीजे नहीं हुआ करती थी। इसलिए उस समय पार्टी करने के लिए टूरिस्ट बैंड का इस्तेमाल करते थे।

2. पहले समय में गोवा के फैमस अंजुना बीच को हिप्पियों का बीच कहा जाता था, यह इलाका ज्यादातर नारियल के पेड़ों से पैला होता था। यहां टूरिस्ट अक्सर नशे में धूत दिखाई देते थे।

3. इस बीच पर अक्सर टूरिस्टों की जरूरत के सामान का बाजार लगा रहता है। बाजार में कैमरे, कॉस्ट्यूम सब कम दामों में बिका करते थे।

4. यहां अंजुना, कलंगूट और वागाटोर बीच की चांदनी रातों में रंगनी पार्टी का लोग खूब मजा उठाया करते थे।

5. फिर गोवा में हिप्पियों के आने के बाद फुल मून पार्टिया शुरू हो गई । अधिकतर लोग यहां टूरिस्टों को ड्रग्स, कैमरे, कॉस्ट्यूम जैसे सामान बेचने के लिए आया करते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*