Saturday , 27 May 2017
Top Headlines:
Home » India » Jammu Kashmir » 22 वर्षीय सैन्य अफसर का अपहरण कर हत्या

22 वर्षीय सैन्य अफसर का अपहरण कर हत्या

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के 2 राजपूताना रायफल्स में तैनात सेना के लेफ्टिनेंट उमर फयाज के लिए उनकी पहली छुट्टी ही जिंदगी की आखिरी छुट्टी बन गई। आतंकियों ने फैयाज को शादी समारोह से अगवा कर उनकी हत्या कर दी। फयाज का गोलियों से छलनी शव दक्षिणी कश्मीर के हरमन में मिला था।
स्थानीय लोगों ने बताया कि नकाब पहने दो लोग मंगलवार रात करीब 8 बजे घर में घुसे। लोगों ने सिविल ड्रेस में मौजूद फयाज को अपने साथ चलने को कहा और उनके परिवारवालों को पुलिस को सूचना नहीं देने की चेतावनी दी। फयाज को नजदीक से सिर, पेट और सीने में गोली मारी गई थी। आतंकियों के गोली मारने से पहले फयाज ने प्रतिरोध भी किया था। इस घटना के बाद स्थानीय लोगों में काफी गुस्सा है। लोग इस घटना के जिम्मेदार लोगों की पहचान करने और उनको सजा देने की मांग कर रहे हैं।
फयाज ने नवोदय विद्यालय में शिक्षा हासिल की थी। पुणे के राष्ट्रीय रक्षा अकैदमी (एनडीए) से शिक्षा हासिल किए फयाज को 10 दिसंबर 2016 को सेना में कमीशन मिला था। वह 129वैं बैच के कडेट थे। फयाज 2 राजपूताना रायफल्स में तैनात थे और उन्होंने अपने कजन की शादी के लिए छुट्टी ली थी। उन्हें 25 मई को अखनूर क्षेत्र में मौजूद अपने यूनिट में वापस जाना था। लेकिन यह शादी उनकी जिंदगी की आखिरी शादी भी बन गई। सेना ने बयान जारी कर कहा कि वह वीर जवान को सलाम करती है और दुख की घड़ी में सेना उनके परिवार के साथ खड़ी है।
22 वर्षीय फयाज इस साल सेना के यंग ऑफिसर्स कोर्स के लिए जाने वाले थे। वह एनडीए में हॉकी टीम के कैप्टन थे और वॉलिबॉल के भी अच्छे खिलाड़ी थे। फयाज के पिता किसान हैं और सेब का छोटा-मोटा व्यवसाय करते हैं। बता दें कि बीते सप्ताह ही कृष्णा घाटी में हुई बर्बरता से पूरे देश में अब तक गुस्सा है, जहां दो भारतीय जवानों के क्षत-विक्षत शव बरामद हुए थे।
दक्षिण कश्मीर में आतंक निरोधी अभियान के प्रमुख अधिकारी मेजर जनरल बीएस राजू ने अपने सभी यूनिट्स को इलाके में तलाशी अभियान का आदेश दिया है। रक्षा मंत्री अरूण जेटली ने घटना की निंदा करते हुए इसे आतंकियों की कायराना हरकत करार दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*