उदयपुर के अधिकतर मरीजों को बिना सर्दी-जुकाम वाला कोरोना

0
2091

कोरोना : 24 घंटे में 30 नए केस कोरोना पॉजिटिव की संख्या पहुंची 133
माहेश्वरियों की सेहरी मेें एक ही घर से सात नए पॉजिटिव
मेनार गांव तक पहुंचा कोरोना, मुम्बई से आई महिला संक्रमित

उदयपुर (नगर संवाददाता)। जिले में कोरोना का कहर जारी है। पिछले 24 घंटों में कोरोना के 30 केस सामने आए है, जिसमें कानजी का हाटा और हैलावाड़ी क्षेत्र से 8 नए, रावजी का हाटा में 4 नए केस है। इसमें नई बात यह है कि माहेश्वरियों की सेहरी में एक ही मकान से 7 नए संक्रमित सामने आए है। इसी तरह मेनार में मुम्बई से आई एक महिला मेें कोरोना के लक्षण पाए गए है, जिस पर उसके पूरे परिवार को एमबी चिकित्सालय में जांच के लिए भेज दिया है। उदयपुर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 133 हो गई है। पिछले कुछ दिनों में आए 133 केसों में से 90 प्रतिशत लोग ‘एसिंप्टोमैटिकÓ है इन लोगों में मामूली सर्दी-जुकाम और खांसी के लक्षण पाए गए है, जिनकी स्थिति सामान्य है।
रविवार आई रिपोर्ट के अनुसार काजी का हाटा, हैलावाड़ी क्षेत्र से 8 नए पॉजिटिव आए है इसी तरह एक नया केस शहर के अशोक नगर में भी पाया गया है। वहीं एमबी चिकित्सालय की स्टॉफ भी कोरोना संक्रमित पाई है। जोगीवाड़ा क्षेत्र से भी एक अन्य पॉजिटिव मिला है। रावजी का हाटा क्षेत्र से 4 नए, नाईयों की तलाई में 1 और नीमच माता में एक अन्य पॉजिटिव मिला। मुम्बई से अपने परिवार के साथ मेनार आई महिला में संक्रमित पाई गई। उदयपुर की माहेश्वरियों की सेहरी में एक भी भवन में रहने वाले 7 लोगों में कोरोना संक्रमण पाया गया।
पिछले 24 घंटो में 30 नए सकं्रमित पाए जाने पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की नींद उड़ गई है और अधिकारियों ने जो भी संक्रमित है उन सभी को एमबी चिकित्सालय के कोरोना वार्ड और अन्य निजी चिकित्सालयों के कोरोना वार्ड में भर्ती करवाया गया, जहां पर उनका उपचार किया जा रहा है। इसी तरह से कोरोना संक्रमितों के क्लोज कांटेक्ट में आने वाले सभी की पहचान कर सभी के सैम्पल लेने शुरू कर दिए है और सभी क्लोज कांटेक्ट को संदिग्ध मानते हुए सभी को आईसोलेशन वार्ड में शिफ्ट कर दिया। 133 संक्रमितों में 90 प्रतिशत मरीज एसिंप्टोमैटिक है, जिनमें मात्र सर्दी, जुकाम या खांसी है और इनका उपचार किया जा रहा है। ऐसे लोग स्वस्थ है और केवल कोरोना की जांच में इनमेंं कोरोना संक्रमण पाए जाने के कारण भर्ती किया गया है मगर ये दूसरों को संक्रमित कर खतरनाक साबित हो सकते हैं। चिकित्सा अधिकारियों का कहना है कि जो मरीज एसिन्टोमैटिक यानि सामान्य है उनकी पहली रिपोर्ट भले ही नेगेटिव आई हो, लेकिन दूसरी रिपोर्ट से ही लगातार रिपोर्ट नेगेटिव आ रही है। ऐसे मरीजों को निर्धारित समय पर दवाई दी जा रही है।
मेनार में लगाया कफ्र्यू
मेनार में जो महिला पॉजिटिव आई है वह अपने तीन बच्चों और पति व एक अन्य के साथ मुम्बई से 7 मई को आई थी। जांच में महिला कोरोना संक्रमित पाई गई। इसके बाद से ही चिकित्सा अधिकारियों ने इस महिला के अलावा इसके पति, तीनों बच्चे, साथ में आया युवक और माता-पिता को उदयपुर लाया गया और सैम्पल लेकर जांच के लिए भेज दिया है।
15 मई तक बंद रहेगी मंडियां
उदयपुर। प्रदेश की अनाज मण्डिया अब 15 मई तक बंद रहेगी। प्रदेश की अनाज मण्डी के अध्यक्षों और राज्य सरकार में हुई वार्ता में कोर्ई निर्णय नहीं निकल पाया है। ऐसे में कालाबाजारी होने की संभावना बढ़ गई है। जानकारी के अनुसार राज्य सरकार ने कृषि उपज पर 2 प्रतिशत कर लगा दिया और कृषक कल्याण कोष बना दिया। इसके विरोध में प्रदेश की सभी अनाज मण्डियों ने आक्रोश व्यक्त किया और सभी मण्डियां 10 मई तक के लिए बंद कर दी गई। रविवार को मण्डी के पदाधिकारियों और राज्य सरकार के बीच वार्ता हुई इस वार्ता में कोई निर्णय नहीं होने पर अब 15 मई तक प्रदेश की मण्डियों बंद रखने का निर्णय लिया गया है। बताया जा रहा है कि यदि 15 मई बाद भी सरकार की ओर से कोई निर्णय नही निकलता है तो इस बंद को आगे भी बढ़ाया जा सकता है।
‘एपिसेंटरÓ से 93 लोग पेसिफिक विवि शिफ्ट
तंग गलियों में रहते थे लोग, 14 दिन के लिए रहेंगे पेसिफिक विवि में
विरोध करने पर पुलिस ने बरती सख्ती
जिन्हें शिफ्ट किया वे जांच में नेगेटिव
उदयपुर। शहर का हॉट स्पॉट और एपी सेंटर बन चुके कानजी का हाटा, हैलावाड़ी में लगातार फैल रहे संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन ने इस क्षेत्र से 93 लोगों को प्रतापनगर स्थित पैसिफिक विश्वविद्यालय में शिफ्ट कर दिया है। इस दौरान कुछ लोगों ने विरोध भी किया, लेकिन पुलिस ने सख्ती बरतते लोगों को शिफ्ट किया। इसके लिए जिला प्रशासन ने 15 बसें लगाई थी।
उदयपुर शहर का हॉट स्पॉट और एपी सेंटर बन चुके कानजी का हाटा, कानोड़ की हवेली और हैलावाड़ी क्षेत्र में लगातार कोरोना पॉजिटिव आ रहे है। इन तीनों क्षेत्रों में पिछले दिनों से अब तक 87 लोग कोरोना संक्रमित पाए जा चुके है और लगातार संक्रमितों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। जिला प्रशासन के सामने नई समस्या यह आ रही है कि यह क्षेत्र पूरी तरह से संकुचित है और एक ही भवन में काफी संख्या में लोग रहते है।
इससे स्थिति ओर भी ज्यादा भयावह होती जा रही है। इसी को देखते हुए जिला प्रशासन ने इस क्षेत्र को खाली करवाने का निर्णय लिया। जिला प्रशासन ने एक भवन में ठूंस-ठूंस कर रहे लोगों अन्य शिफ्ट करने का निर्णय लिया। इसके लिए जिला प्रशासन ने पूर्व मेें अधिग्रहित किए गए पैसिफिक विश्वविद्यालय को चुना और सारी व्यवस्थाएं यहां पर निर्धारित करवाई।
इसके बाद सुबह एडीएम सिटी संजय कुमार के नेतृत्व में पुलिस जाब्ता यहां पर भेजा और 15 बसों को भी भिजवाया। इसके बाद इस क्षेत्र में घोषणा करवाई गई और लोगों को अपने कपड़ों के साथ आकर इस बस में बैठने लिए कहा। शुरूआत में तो स्थानीय लोग घबरा गए थे, लेकिन बाद में जिला प्रशासन ने बताया कि सभी को पैसिफिक विश्वविद्यालय ले जाया जा रहा है और वहां पर 14 दिनों तक रखा जाएगा।
इसके बाद क्षेत्रवासी बाहर निकले और सामान के साथ बस में जाकर बैठने लगे। इस दौरान कुछ लोगों ने विरोध भी किया था, लेकिन पुलिस ने सख्ती दिखाई और सभी को बसों में बैठाया और सभी को सीधा पैसिफिक विश्वविद्यालय में ले जाया गया, जहां पर सभी को कमरों में शिफ्ट कर दिया गया। यहां पर सारी व्यवस्थाएं जिला प्रशासन ने की है। जिला प्रशासन के अनुसार 93 लोगों को पैसिफिक विश्वविद्यालय में शिफ्ट किया गया है।
कुछ को छोड़ा घरों पर
इस क्षेत्र में कुछ लोगों को घरों पर ही छोड़ा है, जो अपने घरों की देखभाल करेंगे। इसके अलावा सभी को उठाकर पैसिफिक विश्वविद्यालय में 14 दिन के लिए क्यूरेनटाईन के लिए भेज दिया है। यहां पर सभी को अलग-अलग कमरों में रखा गया है।
जिन लोगों को शिफ्ट किया वे सभी नेगेटिव
जिन लोगों को शिफ्ट किया है ये सभी लोग नेगेटिव के सम्पर्क मेें थे और सभी सामान्य थे। सभी संकरे क्षेत्र में रहने के कारण फिर से इन लोगों में कोरोना का संक्रमण फैलने की संभावना है। इसी कारण इन लोगों को 14 दिन के लिए क्यूेरटाईन किया गया है।
एक कमरे में दो ही लोगों को रखा जा रहा
पैसिफिक विश्वविद्यालय में एक कमरे में दो लोगों को ही रखा जा रहा है। जानकारी के अनुसार सभी को सोशल डिस्टेसिंग की पालना करने के लिए भी निर्देशित किया जा रहा है, इसके अलाावा सारी व्यवस्थाएं जिला प्रशासन द्वारा की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here