हादसों का दिन

0
1946

विशाखापत्तनम : केमिकल प्लांट में गैस लीक 11 जनों की मौत
4 किमी दूर तक फैली जहरीली गैस, 300 भर्ती
विशाखापट्टनम (एजेंसी)।
आंध्रप्रदेश के विशाखापट्टनम में गुरूवार तड़के एक केमिकल प्लांट से गैस लीक हो गई। हादसा तड़के 2:30 बजे एलजी पॉलिमर्स इंडस्ट्री के प्लांट में हुआ। सुबह करीब 5:30 बजे न्यूट्रिलाइजर्स के इस्तेमाल के बाद हालात काबू में आए। तब तक गैस 4 किलोमीटर के दायरे में आने वाले 5 छोटे गांवों में फैल हो चुकी थी। हादसे में अब तक 2 बच्चे समेत 11 लोगों की मौत हो चुकी है। हादसा विशाखापट्टनम से करीब 30 किलोमीटर वेंकटपुरम गांव में हुआ। एक हजार से ज्यादा लोग बीमार हैं। 300 लोग अस्पताल में भर्ती हैं। 25 लोग वेंटिलेटर पर हैं। 15 बच्चों की हालत नाजुक है। आंध्रप्रदेश सरकार ने मृतकों के परिजनों को 1-1 करोड़ रूपए की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है।
कई लोग मौके पर पहुंचे, वहीं बेहोश होकर गिर गए : आंध्रप्रदेश के डीजीपी दामोदर गौतम सवांग ने बताया कि सुबह 5:30 बजे न्यूट्रिलाइजर्स के इस्तेमाल के बाद हालात काबू में आए। मारे गए 8 लोगों में से 2 की मौत दहशत में भागते समय हुई। इनमें से एक आदमी कंपनी की दूसरी मंजिल से गिरा, जबकि दूसरा कुएं में गिर गया। हादसे की खबर लगते ही कई लोग मौके पर पहुंचे, लेकिन वहीं बेहोश होकर गिर गए। आसपास के घरों में भी लोग बेहोश मिले। कुछ लोगों के शरीर पर लाल निशान पड़ गए।
5 हजार टन स्टोरेज का टैंक चेक करने के दौरान गैस लीक हुई : प्लांट में एक गैस चैम्बर और उसी के ठीक पास न्यूट्रिलाइजर चैम्बर है। जब 5 हजार टन की कैपेसिटी वाले टैंक से गैस लीक हुई तो न्यूट्रिलाइजर चैम्बर के जरिए उसे कंट्रोल करने की कोशिश की गई, लेकिन तब तक हालात बेकाबू हो चुके थे।
आंध्रप्रदेश के उद्योग मंत्री गौतम रेड्डी ने बताया कि मजदूर गैस स्टोरेज टैंक चेक कर रहे थे, तभी यह हादसा हुआ।
4 किलोमीटर के दायरे में गैस फैली
रिसाव के बाद गैस 4 किलोमीटर के दायरे में फैल चुकी थी। इस दायरे में आसपास के 5 छोटे गांव आते हैं। वहां लोगों के घरों तक गैस घुस गई। लोगों को बेचैनी, सांस लेने में तकलीफ, उल्टियां होने के बाद उनकी नींद खुली। कई लोग बेहोश हो गए। गुरूवार सुबह तक वेंकटपुरम गांव से इसी तरह की तस्वीरें सामने आती रहीं। कई लोग खड़े-खड़े बेहोश होकर गिरते नजर आए।कुड्डालोर : बॉयलर में धमाका7 लोग घायलचैन्ने (एजेंसी)। अब तमिलनाडु के नेवेली में बॉयलर फटने से 7 लोग घायल हो गए हैं। राज्य के कुड्डालोर जिले में नेवेली लिग्नाइट कॉर्पोरेशन लिमिटेड के प्लांट में यह हादसा हुआ है। हादसे के बाद प्लांट से धुएं का बादल देखा गया। घटना के फौरन बाद एनएलसी इंडिया लिमिटेड की राहत और बचाव कार्य मुहैया कराने वाले टीमें पहुंच गईं हैं और हालात को काबू करने की कोशिशें की जा रही हैं।
स्थानीय पुलिस और फायर ब्रिगेड की गाडिय़ां भी मौके पर पहुंच गईं। इस भयानक विस्फोट के बाद लगी आग को बुझाने का काम चल रहा है। बताया जाता है कि इस घटना के बाद प्लांट में चल रहा काम अस्थायी तौर पर रोक दिया गया है।रायगढ़ : पेपर मिल में गैस रिसाव7 मजदूर बेहोशरायगढ़ (एजेंसी)। छत्तीसगढ़ के रायगढ़ स्थित एक पेपर मिल में जहरीली गैस का रिसाव हो गया। इसकी चपेट में आकर 7 मजदूर बेहोश हो गए हैं। पुसौर क्षेत्र के तेतला गांव में आरडी गुप्ता की शक्ति पेपर मिल लॉकडाउन के कारण बंद पड़ी थी। इसी मिल में सफाई के लिए कर्मचारी बुधवार को पहुंचे थे। बताया जा रहा है कि पेपर रिसायकल चैंबर की सफाई के दौरान बुधवार शाम करीब 4.30 बजे जहरीली गैस का रिसाव हो गया। इससे चैंबर और पास में काम कर रहे मजदूरों की तबियत बिगड़ गई। इनमें से दो अचेत होकर गिर पड़े, जबकि कुछ उल्टियां करने लगे। हादसे की सूचना पर सभी मजदूरों को स्थानीय जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं मिल को सील कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here