48 घंटे में दूसरा आतंकी हमला, 3 जवान शहीद

0
1337

श्रीनगर (एजेंसी)। उत्तरी कश्मीर के हंदवाड़ा में आज शाम को कुछ आतंकवादियों ने हाइवे से गुजर रहे सीआरपीएफ जवानों के एक गश्ती दल पर अचानक से हमला बोल दिया। इस हमले में 3जवान शहीद व 7 जवान घायल हुए हैं। सभी घायलों को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया है। वहीं जवाबी कार्रवाई में एक आतंकवादी भी मारा गया है। जबकि बाकी अन्य वहां से भाग कर नजदीकी रिहायशी इलाके में छिप गए हैं। उनकी तलाश के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया हुआ है।
हंदवाड़ा में पिछले 48 घंटों में आतंकवादियों का यह दूसरा हमला है। सीआरपीएफ के गश्ती पर आतंकवादियों ने यह हमला शाम करीब 5.38 पर किया। कश्मीर में अपने पैर जमा रहे आतंकी संगठन द रजिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) ने इसकी जिम्मेदारी ली है। उन्होंने कश्मीर की एक न्यूज एजेंसी में फोन कर इस बात की सूचना दी कि हंदवाड़ा में सीआरपीएफ गश्ती पर दल पर उनके संगठन के सदस्यों ने ही हमला किया है।
वहीं कश्मीर में ही जिला बडगाम के वगूरा नौगाम में भी आतंकवादियों द्वारा पावर ग्रिड स्टेशन में किए गए ग्रेनेड हमले में एक सीआईएसएफ जवान गंभीर रूप से घायल हो गया है। ग्रेनेड फेंक संदिग्ध आतंकी वहां से भागने में सफल रहा। ग्रिड की सुरक्षा में तैनात सीआइएसएफ के घायल जवान को तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहां उसका इलाज चल रहा है। हालांकि सुरक्षाबलों ने नौगाम के वगूरा इलाके की घेराबंदी कर वहां भी तलाशी अभियान चलाया हुआ है। फिलहाल किसी आतंकी मुठभेड़ की सूचना नहीं है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सीआरपीएफ की 92 बटालियन का एक गश्ती दल जब हंदवाड़ा से गुजर रहा था तभी वंगाम करालगुंड इलाके में छिपे कुछ आतंकवादियों ने जवानों पर हमला बोल दिया। अचानक से किए गए इस हमले में दो जवान मौके पर ही शहीद हो गए जबकि आठ अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। दूसरे जवानों ने तुरंत घायलों को वहां से निकालते हुए नजदीकी अस्पताल पहुंचाया, जहां एक अन्य जवान जख्मों का ताव न सहते हुए शहीद हो गया जबकि सात अन्य का इलाज अस्पताल में चल रहा है। जवाबी कार्रवाई में एक आतंकवादी के मारे जाने की सूचना है। हालांकि सूत्रों का कहना है कि मारे गए संदिग्ध आतंकवादी के पास से कोई हथियार नहीं मिला है। मुठभेड़ समाप्त होने के बाद पुलिस यह जांच करेगी कि मारे जाने वाला व्यक्ति आतंकी था या फिर स्थानीय नागरिक। हमला के तुरंत बाद वहां से फरार हुए आतंकी वंगाम इलाके में छिप गए। हमले के कुछ ही देर बाद पुलिस के एसओजी, सेना और सीआरपीएफ की टीम मौके पर पहुंच गई और उन्होंने वंगाम इलाके की घेराबंदी कर ली। (शेष पेज 6 पर)सेना प्रमुख की पाक को चेतावनीनई दिल्ली (एजेंसी)। हंदवाड़ा मुठभेड़ के दो दिन बाद भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने कहा कि पाकिस्तान जबतक सीमा पार से आतंकवाद को प्रोत्साहित करने की नीति को नहीं छोड़ता तब तक हम जवाबी कार्रवाई करते रहेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि सीमा पर घुसपैठ की बढ़ती कोशिशों से यह पता चल रहा कि पाकिस्तान कोरोना के खिलाफ लड़ाई का इच्छुक नहीं है। बता दें कि शनिवार को जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में आतंकियों के साथ लोहा लेते हुए भारतीय सेना के 5 जांबाज शहीद हो गए थे।’आतंक फैलाने पर देंगे करारा जवाबÓ’वैश्विक जोखिम है पाकिस्तानÓ
जनरल नरवणे ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में एलओसी पर पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम उल्लंघन की बढ़ती घटनाओं के पता चलता है कि यह एक वैश्विक जोखिम है। पाकिस्तान अभी भी आतंकियों को भारत में दाखिल कराने के अपने सीमित एजेंडे पर ही चल रहा है’हम जवाबी कार्रवाई करना जारी रखेंगेÓ
उन्होंने यह भी कहा कि जबतक पाकिस्तान राज्य प्रायोजित आतंकवाद की अपनी नीति नहीं छोड़ता, हम उचित और सटीक तरीके से उचित जवाब देना जारी रखेंगे। उन्होंने पाक को चेतावनी देते हुए कहा कि भारतीय सेना संघर्ष विराम के उल्लंघन और आतंकवाद को समर्थन देने (शेष पेज 6 पर)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here