गिलगिट-बाल्टिस्तान खाली करे पाकिस्तान

    0
    1173

    ‘भारत ने चुनाव कराने के आदेश पर जताई कड़ी आपत्ति’
    नई दिल्ली (एजेंसी)।
    आने वाले दिनों में गिलगिट बाल्टिस्तान को लेकर भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में और तनाव घुलने के आसार दिखते नजर आ रहे हैं। सोमवार को भारत ने गिलगिट-बाल्टिस्तान इलाके में चुनाव कराने के पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर बेहद सख्त आपत्ति जताते हुए पाकिस्तान सरकार को डेमार्श जारी किया है। सामान्य भाषा में कहें तो भारत ने पाकिस्तान से अपनी गहरी नाराजगी जाहिर की है।

    भारत ने पाकिस्तान के सामने दो टूक में स्पष्ट किया है कि गिलगिट-बाल्टिस्तान का क्षेत्र भारत का वैध व अभिन्न हिस्सा है और पाकिस्तान की न्यायिक व्यवस्था का उसको लेकर फैसला करने का कोई अधिकार नहीं है। भारत ने पाकिस्तान को इसके साथ ही इस इलाके को खाली करने को भी कहा है।
    भारतीय विदेश मंत्रालय की यह प्रतिक्रिया तब आई है जब जम्मू व कश्मीर के नियंत्रण रेखा पर दोनो देशों के बीच लगातार भीषण गोलीबारी हो रही है।

    भारतीय जानकार मान रहे हैं कि कोविड-19 से बुरी तरफ से प्रभावित होने के बावजूद जिस तरह से कश्मीर में आतंकी गतिविधियों को भड़काने में लगा है उसके तार गिलगिट-बाल्टिस्तान में चुनाव कराने उसकी साजिश से भी जुड़ा है। पाकिस्तान की साजिश यह है कि दुनिया का ध्यान कश्मीर नियंत्रण रेखा पर रही गोलीबारी और आतंकी मुठभेड़ों पर भटका कर गिलगिट-बाल्टिस्तान के इलाके में अपनी राजनीतिक साजिश को अंजाम दे।

    यही वजह है कि सीमा पार से हाल के हफ्तों में लगातार अकारण ही गोलीबारी हो रही है। वैसे भारत की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान को भी भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है।
    भारतीय विदेश मंत्रालय की तरफ से बताया गया है कि नई दिल्ली स्थित पाकिस्तान उच्चायोग के वरिष्ठ अधिकारी को बुला कर उससे भारतीय पक्ष की नाराजगी से अवगत कराया गया। उन्हें साफ तौर पर बताया गया कि जम्मू कश्मीर का पूरा संभाग, गिलगिट-बाल्टिस्तान समेत (शेष पेज 6 पर)

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here