तापमान बढ़ोतरी और कोरोना वायरस में कमी का 85% संबंध

0
478

राष्ट्रीय पर्यावरण इंजिनियरिंग अनुसंधान संस्थान का अध्ययन
नागपुर (एजेंसी)। कोरोना वायरस से जंग के बीच एक स्टडी से चौंकाने वाली बात सामने आई है। नागपुर में राष्ट्रीय पर्यावरण इंजिनियरिंग अनुसंधान संस्थान (नीरी) के एक अध्ययन में सामने आया है कि बढ़ते तापमान और चुनिंदा शहरों में घटते वायरस के बीच 85 फीसदी पारस्परिक संबंध है। यह पूरे महाराष्ट्र और कर्नाटक जैसे राज्यों में भी हुआ है। सीएसआईआर से जुड़ी एक टीम के रिसर्च के दौरान नीरी का यह अध्ययन गणितीय मॉडल पर किए गए शोध पर आधारित है।
नीरी अनुसंधान ने कहा कि जब इन दो राज्यों में तापमान और सापेक्ष आर्द्रता के सकल मूल्यों को देखा गया तो 25 डिग्री सेल्सियस और इसके बाद के औसत दिन के तापमान में वृद्धि कोविड-19 मामलों में कमी का कारण बना। इस अध्ययन में बताया गया है कि भारत में गर्म जलवायु कोविड-19 को फैलाने से रोकने में फायदेमंद साबित हो सकती है, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग ने तापमान और आर्द्रता जैसे पर्यावरणीय कारकों के फायदों को कम कर दिया है।
सोशल डिस्टेंसिंग भी जरूरी : सेंटर ऑफ स्ट्रेटेजिक अर्बन मैनेजमेंट, नीरी के निदेशक अनुसंधान सेल में वैज्ञानिक हेमंत भेरवानी ने बताया कि हम केवल तापमान (शेष पेज 6 पर)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here