राजस्थान में 265 पॉजिटिव

1
577

69018 की मौत, 12,62,304 संक्रमित
82 साल के बुजुर्ग की मौत

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान में रविवार को 59 नए केस सामने आए। जिसमें 39 केस केवल जयपुर में पॉजिटिव मिले हैं। इसमें 82 साल के बुजुर्ग भी शामिल थे। जिनकी रिपोर्ट आने से पहले रात 12.16 मिनट पर मौत हो गई थी। वहीं दौसा में भी 2 संक्रमित पाए गए। इसके अलावा झुंझुनू, टोंक और नागौर में भी 1-1 केस पॉजिटिव मिला। इसके साथ जोधपुर में भी ईरान से आए 5 लोग संक्रमित मिले हैं। जिसके बाद 3 जोधपुर के लोग संक्रमित पाए गए। वहीं बीकानेर में 5 लोग पॉजिटिव पाए गए। इसके साथ पाली और जैसलमेर में भी एक-एक केस सामने आया। जिसके बाद राजस्थान का कुल आंकड़ा 265 पहुंच गया है।
राजस्थान के 20 जिलों में कोरोना, सबसे ज्यादा 94 जयपुर में : राजस्थान में अब तक 20 जिलों में कोरोना के केस मिल चुके हैं। सबसे ज्यादा जयपुर में मिले। यहां अब तक 94 (2 इटली के नागरिक) पॉजिटिव मिले। भीलवाड़ा 27, झुंझुनूं 18, जोधपुर 53 (इसमें 33 ईरान से आए), चूरू 10, टोंक 18, प्रतापगढ़ 2, डूंगरपुर 3, अजमेर 5, अलवर 5, बीकानेर 9, उदयपुर 4, भरतपुर में 5, दौसा में 3, बांसवाड़ा में 2, पाली में 2, जैसलमेर, करौली, नागौर, धौलपुर और सीकर में एक-एक संक्रमित मिला।प्रदेश में कोरोना से अब तक पांच लोगों की मौत
राजस्थान में कोरोना से अब तक 5 लोगों की मौत हुई है। पहली मौत 73 वर्षीय बुजुर्ग की हुई। उसे कई अन्य गंभीर बीमारियां भी थीं। डायलिसिस पर था। बीपी, किडनी और सांस लेने में काफी परेशानी थी। हालांकि डॉक्टर्स किडनी खराब होना मौत का कारण बता रहे हैं। दूसरी मौत एक 60 साल के व्यक्ति की हुई। दोनों के परिवार के दो-दो लोगों में भी कोरोनावायरस पॉजिटिव मिला।

तीसरी मौत अलवर के 85 साल के बुजुर्ग की हुई। जिन्हें ब्रेनहैमरेज हुआ था। चौथी मौत बीकानेर में 60 साल की महिला की हुई, जो मौत होने के बाद पॉजिटिव पाई गई। वहीं पांचवी मौत जयपुर में 82 साल के बुजुर्ग की हुई। जिनकी रिपोर्ट मृत्यु के बाद पॉजिटिव पाई गई।पुलिस अधिकारियों से बोले सीएमलॉकडाउन-कफ्र्यू की सख्ती से कराएं पालना, अफवाह फैलाने पर सख्त कार्रवाई के निर्देश
जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए राज्य में लॉकडाउन और कफ्र्यू की सख्ती से पालना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए लोगों का घरों में रहना जरूरी है। गहलोत रविवार को मुख्यमंत्री निवास पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए गृह विभाग एवं वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ राज्य में लॉकडाउन एवं कफ्र्यू की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे।
इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे विकट समय में पुलिसकर्मी सड़क पर खड़े रहकर मुस्तैदी से अपनी ड्यूटी को अंजाम दे रहे हैं। साथ ही अन्य व्यवस्थाओं तथा मानवीय कार्यों में भी सहयोग दे रहे हैं जो कि प्रशंसनीय है। मुख्यमंत्री ने इस महामारी के रोगियों का उपचार कर रहे चिकित्सकों एवं स्क्रीनिंग कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों की पुख्ता सुरक्षा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोरोना वॉरियर्स को सुरक्षा प्रदान करना हम सभी की जिम्मेदारी है। (शेष पेज 8 पर)

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here