Tuesday , 30 May 2017
Top Headlines:
Home » India » Utter Pradesh » 110 सालों में पहली बार बंद हुई मशहूर ‘टुंडे-कबाबी’ दुकान

110 सालों में पहली बार बंद हुई मशहूर ‘टुंडे-कबाबी’ दुकान

Views:
0

लखनऊ। यूपी में योगी सरकार आने के बाद अवैध बूचडख़ाने बंद कराने का काम जोर-शोर से चल रहा है। जिसके चलते मीट और बीफ की सप्लाई में भारी गिरावट आ गई है। इस वजह से लखनऊ की मशहूर ‘टुंडे-कबाबी’ दुकान 110 सालों में पहली बार बुधवार को बंद रही। दुकान बंद होने की वजह से इस दुकान के कबाब पसंद करने वालों को मायूसी हाथ लगी।
टुंडे कबाबी के मालिक अबू बकर ने गुरूवार को कहा, बूचडख़ाने बंद होने की वजह से मटन और भैंसे के मीट की जबरदस्त कमी हो गई है। जिसकी वजह से मेरी दुकान पर अब सिर्फ चिकन ही बिक रहा है। हालांकि लखनऊ की इस मशहूर दुकान के मालिक ने यह भी कहा कि अवैध बूचडख़ानों को बंद करने का सीएम का फैसला बहुत अच्छा है, लेकिन उन्होंने सीएम से अनुरोध किया कि वह लीगल और लाइसेंस वाले बूचडख़ानों पर पाबंदी न लगाएं।
1905 में लखनऊ के अकबरी गेट इलाके में शुरू हुई इस दुकान का कबाब और पराठा पूरी दुनिया में मशहूर है। लेकिन भैंसे के मीट की कमी की वजह से अब इस दुकान पर चिकन के कबाब ही मिल रहे हैं। दुकान के एक कर्मचारी ने कहा कि अगर ऐसी ही हालत रही तो शायद इस दुकान को बंद भी करना पड़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*