Sunday , 30 April 2017
Top Headlines:
Home » Sports » सैमसन का शतक – दिल्ली ने पुणे को रौंदा

सैमसन का शतक – दिल्ली ने पुणे को रौंदा

पुणे। युवा बल्लेबाज संजू सैमसन (102) के आईपीएल-10 के पहले शतक की बदौलत दिल्ली डेयरडेविल्स ने राइङ्क्षजग पुणे सुपरजाएंट््स को उसी के घर में मंगलवार को 97 रन से रौंद दिया।
दिल्ली ने 20 ओवर में 4 विकेट पर 205 रन का बड़ा स्कोर बनाने के बाद पुणे को 16.1 ओवर में मात्र 108 रन पर ढेर कर दिया। दिल्ली की दो मैचों में यह पहली जीत है जबकि पुणे की दो मैचों में यह पहली हार है।
सैमसन को 63 गेंदों पर 8 चौकों और 5 छक्कों की मदद से बनाए गए 102 रन के लिए मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया। संजू ने इस तरह आईपीएल-10 का पहला शतक अपने नाम कर लिया।
बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए पुणे की बल्लेबाजी अपने कप्तान स्टीवन स्मिथ की गैर मौजूदगी में दम तोड़ गई। स्मिथ बीमार होने के कारण मैच में नहीं खेल सके। दिल्ली के कप्तान जहीर खान ने 20 रन पर तीन विकेट और लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने 11 रन पर तीन विकेट लेकर पुणे को ध्वस्त कर दिया। पुणे के सभी बल्लेबाज कैच आउट हुए। आईपीएल इतिहास में यह पहला मौका है जब एक टीम के सभी बल्लेबाज कैच आउट हुए।
पुणे के लिए मयंक अग्रवाल ने 20, कप्तान अङ्क्षजक्य रहाणे ने 10, रजत भाटिया ने 16, महेन्द्र ङ्क्षसह धोनी ने 11, दीपक चाहर ने 14 रन बनाए। आईपीएल-10 के सबसे महंगे खिलाड़ी बेन स्टोक्स दो रन ही बना सके।
इससे पहले युवा संजू सैमसन (102) के शानदार शतक के बाद क्रिस मोरिस (नाबाद 38) के अंतिम क्षणों में तूफानी बल्लेबाजी के दम पर दिल्ली डेयरडेविल्स ने चार विकेट पर 205 रन का विशाल स्कोर बना लिया।
22 वर्षीय सैमसन ने पारी के दूसरे ओवर से जो खेल में गति लायी वह अंत तक कायम रही। सैमसन ने दूसरे ही ओवर में दो और फिर तीसरे ओवर में दो छक्के लगाकर अपने इरादे जाहिर कर दिये थे कि इस मुकाबले में वह क्या कर गुजरने वाले हैं।
सैमसन का यह पहला ट््वंटी शतक है। उन्होंने 19 वें ओवर में एडम जंपा की गेंद पर छक्का जड़कर अपना शतक पूरा किया। इससे पहले उनका सर्वाधिक ट््वंटी-20 स्कोर 87 रन था। टास जीत कर दिल्ली ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। ओपनर आकाश तारे का विकेट मात्र दो रन पर गंवाने के बाद सैमसन ने पारी को आगे बढ़ाया। उनकी पारी में शुरुआत से आत्मविश्वास झलक रहा था। उन्होंने दूसरे और तीसरे ओवर में दो-दो छक्के जड़कर दबाव पुणे की टीम पर ला दिया।
दूसरे छोर पर सैम बिङ्क्षलग्स ने भी सैमसन का अच्छा साथ दिया और दोनों बल्लेबाजों ने दूसरे विकेट के लिये सात ओवर में 69 रन जोड़कर स्थिति को संभाल लिया। बिङ्क्षलग्स पारी के 71 के स्कोर पर 17 गेंदों में चार चौकों की मदद से 24 रन बनाकर इमरान ताहिर का शिकार बने।
बिङ्क्षलग्स के बाद युवा रिषभ पंत ने भी अच्छे हाथ दिखाते हुए पारी को आगे बढ़ाया और आंखे जम जाने के बाद कुछ अच्छे शॉट लगाये। पंत दुर्भाग्यशाली रहे और 16 वें ओवर में 124 के स्कोर पर 31 रन बनाकर रनआउट हो गये। उन्होंने तीसरे विकेट के लिये सैमसन के साथ 53 रन जोड़े। उन्होंने अपनी पारी में एक चौका तथा दो छक्का लगाया।
एक छोर से विकेट गिर रहे थे लेकिन दूसरे छोर पर सैमसन चट्टान की तरह जमे हुए अपनी बेफिक्र पारी को आगे बढ़ा रहे थे। उनके आत्मविश्वास का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने अपने शतक के लिये छक्का का सहारा लिया। सैमसन शतक बनाने के बाद 19 वें ओवर में 166 के स्कोर पर जंपा का शिकार हो गये। सैमसन ने 63 गेंदों की अपनी लाजवाब पारी में आठ चौके और पांच छक्के लगाये।
दिल्ली ने 20 ओवर में चार विकेट पर 205 रन बनाये। कोरी एंडरसन दो तथा क्रिस मोरिस 38 रन पर नाबाद रहे। मोरिस ने निचले क्रम में तूफानी बल्लेबाजी करते हुए मात्र नौ गेंदों पर चार चौके और तीन छक्के लगाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*