Wednesday , 11 December 2019
Top Headlines:
Home » Udaipur » संभाग में ‘हाथ’ लहराया, ‘कमल’ मुरझाया

संभाग में ‘हाथ’ लहराया, ‘कमल’ मुरझाया

चित्तौडग़ढ़, निम्बाहेड़ा, नाथद्वारा, आमेट और बांसवाड़ा में कांग्रेसठ्ठ कानोड़ में त्रिशंकु जनमत, जनता सेना किंगमेकर
परतापुर-गढ़ी में निर्दलीय दिलाएंगे सत्ता की चाबी
उदयपुर में लगातार छठी बार भाजपा का बोर्ड निकाय अध्यक्ष के आवेदन आज से निकाय अध्यक्ष/सभापति/ महापौर पद का चुनाव 26 नवंबर को होगा जबकि उपाध्यक्ष 27 नवंबर को चुने जाएंगे। अध्यक्ष पद के नामांकन की दो दिवसीय प्रक्रिया बुधवार से ही शुरू हो जाएगी। 23 नवंबर तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। निकाय चुनाव नतीजों के ठीक बाद उन निकायों में अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पद के लिए पॉवर पॉलिटिक्स शुरू हो गई जिसमें पहले से पार्टी का कोई घोषित चेहरा नहीं था। धड़ेबंदी के लिए बड़े नेताओं के यहां से लेकर जयपुर तक की दौड़ भाग भी शुरू हो गई। नगर संवाददाता & उदयपुर
निकाय चुनावों के परिणामों में उदयपुर संभाग में हाथ की रेखाएं चमक गईं और कमल हाथ मलता रहा गया। उदयपुर को छोड़ लगभग अन्य सभी निकायों में कांग्रेस ने शानदार जीत दर्ज की। कानोड़ में भाजपा और कांग्रेस को बाराबर सीटें तो मिली मगर बहुमत के जादुई आंकड़े को छूने के लिए दोनों में से किसी एक को जनता सेना का सहारा लेना पड़ेगा। बांसवाड़ा के परतापुर में भी सत्ता की चाबी निर्दलीयों के हाथ रहेगी। निकायों में कांग्रेस के शानदार प्रदर्शन से कार्यकर्ताओं में नए जोश का संचार हो गया और उनमें पंचायत चुनावों में और अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद जाग उठी। इधर, परिणाम से पहले भाजपा और कांग्रेस ने ऐतहतियातन प्रत्याशियों की बाड़ेबंदी की थी मगर नतीजे सामने आते ही सब कुछ साफ हो गया। सभी निकायों के नव निर्वाचित पार्षदों ने हाथों-हाथ पद व गोपनीयता की शपथ ली तो इस बीच कानोड़ और परतापुर-गढ़ी के प्रत्याशियों को पार्टियां बाड़ेबंदी से फुलप्रूफ सुरक्षा के बीच लाईं और शपथ दिलाकर फिर अज्ञातवास पर ले गईं। राजस्थान में कुल 49 नगर निकायों के चुनावों के परिणाम घोषित हुए। उदयपुर संभाग के चित्तौडग़ढ़, निम्बाहेड़ा, रावतभाटा, बांसवाड़ा, नाथद्वारा, आमेट में वोटरों ने कांग्रेस को बहुमत मिला तो उदयपुर में भाजपा बहुमत का आंकड़ा पर कर गई। उदयपुर के 70 वार्ड में से भाजपा को 44 सीटों पर जीत मिली। यहां लगातार छठी बार भाजपा अपना बोर्ड बनाने जा रही है। आमेट में कांग्रेस ने 45 साल बाद ऐतिहासिक जीत दर्ज की। चुनाव में पार्टियों से बागी हुए कई प्रत्याशियों ने भी अपने बूते जीत हासिल की। निकाय भाजपा कांग्रेस अन्य कुल
उदयपुर 44 20 6 70
कानोड़ 7 7 6 20
चित्तौडग़ढ़ 24 36 0 60
रावतभाटा 11 26 3 40
निम्बाहेड़ा 16 28 1 45
नाथद्वारा 10 29 1 40
आमेट 8 17 0 25
बांसवाड़ा 21 36 3 60
परतापुर 25 11 10 46बांसवाड़ा (प्रात:काल संवाददाता)। बांसवाड़ा के नगर परिषद चुनाव में इस बार कांग्रेस के एक प्रत्याशी की किस्मत जवाब दे गई, जबकि बराबर वोट मिलने के बाद लॉटरी से उसे हार का सामना करना पड़ा और भाजपा का उम्मीदवार विजयी घोषित कर दिया गया। मतगणना के दौरान वार्ड नंबर 16 की गणना में कांग्रेस के प्रत्याशी रिटायर नर्सिंग अधीक्षक शंकर यादव और भाजपा से किरण दोनों को 292 -292 वोट मिले। मुकाबला बराबरी का रहने पर चुनाव प्रक्रिया के बाद लॉटरी निकाली गई। लॉटरी में भाग्य ने किरण का साथ दिया और गोठी उनके नाम से निकलने से फैसला उनके पक्ष में गया।

अलवर नगर परिषद में मां-बेटे जीते
अलवर (कार्यालय संवाददाता)। अलवर नगर परिषद के चुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशी के रूप में मां-बेटे निर्वाचित हुए हैं।
वार्ड 5 से कांग्रेस की विमला देवी चुनाव जीती हैं वहीं वार्ड 6 से उनके पुत्र मुकेश भी कांग्रेस के प्रत्याशी के रूप में चुनाव जीत गये हैं। वार्ड 6 से सभापति के संभावित प्रत्याशी माने जा रहे भाजपा के दिनेश गुप्ता चुनाव हार गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*