Wednesday , 20 November 2019
Top Headlines:
Home » Political » शिवसेना के तेवर पड़े नरम

शिवसेना के तेवर पड़े नरम

कहा- अंत तक निभाएंगे गठबंधन धर्म
मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। महाराष्ट्र में सीएम पद को लेकर मची खींचतान पर अब भाजपा के प्रति शिवसेना का रूख नरम पड़ता दिख रहा है। शिवसेना ने कहा कि उसने बातचीत कभी नहीं रोकी और वह गठबंधन धर्म का पालन करेगी। बता दें कि महाराष्ट्र चुनाव के नतीजों में भाजपा और उसकी सहयोगी शिवसेना को बहुमत मिला है लेकिन अभी तक दोनों दलों ने औपचारिक बातचीत तक शुरू नहीं की है। वर्तमान महाराष्ट्र विधानसभा का कार्यकाल 8 नवंबर को पूरा हो रहा है।
शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, सेना ने गठबंधन में रहते हुए विधानसभा चुनाव लड़ा था और हम आखिरी वक्त तक गठबंधन धर्म का पालन करेंगे। उन्होंने कांग्रेस नेता हुसैन दलवई के कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखने के कदम का भी स्वागत किया है। इस पत्र में दलवई ने कांग्रेस आलाकमान से महाराष्ट्र में शिवसेना के नेतृत्व वाली सरकार के गठन को समर्थन देने की गुजारिश की है।
‘शिवसेना ने बातचीत नहीं रोकी’
शुक्रवार को संजय राउत ने कहा था कि शिवसेना स्थिर सरकार के गठन के लिए नंबर जुटा सकती है। उन्होंने कहा, राज्य में मौजूदा राजनीतिक स्थिति को देखते हुए कहा जा सकता है कि हर कोई एक-दूसरे से बात कर रहा है सिवाय शिवसेना और भाजपा को छोडक़र। उन्होंने कहा कि शिवसेना ने सरकार गठन की बातचीत नहीं रोकी .. लेकिन बातचीत शुरू ही नहीं हुई।
शिवसेना-एनसीपी के गठबंधन की हुई थी चर्चा
वहीं एनसीपी चीफ शरद पवार से मुलाकात पर उन्होंने कहा, महाराष्ट्र को लेकर कई मुद्दे हैं जिस पर अलग-अलग दल के नेता आपस में बात कर रहे हैं। बता दें कि गुरूवार को संजय राउत की शरद पवार से मुलाकात के बाद ही महाराष्ट्र में एनसीपी-शिवसेना के गठबंधन की चर्चा शुरू हो गई थी। उधर, महाराष्ट्र कांग्रेस के नेताओं ने भी फुर्ती दिखाते हुए दिल्ली जाकर (शेष पेज 8 पर)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*