Monday , 27 January 2020
Top Headlines:
Home » India » पुलिस को मिले अहम सुराग, एफआईआर दर्ज

पुलिस को मिले अहम सुराग, एफआईआर दर्ज

जेएनयू हिंसा
नई दिल्ली (एजेंसी)। दिल्ली पुलिस ने जेएनयू हिंसा मामले में सोमवार शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि उसे कुछ अहम सुराग मिले हैं। पुलिस अधिकारी ने उन आरोपों को भी खारिज किया है, जिसमें कहा गया था कि पुलिस कैंपस में देर से पहुंची। पुलिस ने बताया कि हमने मामले में पेशेवर तरीके से कार्रवाई की है। मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई है। उधर, हिंसा के खिलाफ यूथ कांग्रेस और कांग्रेस की छात्र इकाई ने इंडिया गेट पर टॉर्चलाइट जुलूस निकाला।
बता दें कि रविवार को जेएनयू में मास्क पहने लोगों ने स्टूडेंट्स और टीचर्स पर हमला किया था जो फीस वृद्धि के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। इस घटना में 20 स्टूडेंट्स घायल हुए थे जिनमें छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष भी शामिल हैं।

शाम 7.45 बजे यूनिवर्सिटी ने पुलिस को बुलाया
दिल्ली पुलिस के पीआरओ एमएस रंधावा ने कहा, जांच में देरी न हो और तथ्य जुटाने के लिए जॉइंट पुलिस कमिश्नर के नेतृत्व में एक कमिटी गठित की गई है । हमें कुछ महत्वपूर्ण क्लू मिले हैं और हम कोशिश कर रहे हैं कि केस जल्द सुलझ जाए। उन्होंने आगे कहा, सामान्यत: पुलिस की तैनाती सिर्फ प्रशासनिक ब्लॉक में होती है और झड़प इसके बाहर हुई है। शाम 7.45 बजे जेएनयू प्रशासन की तरफ से हमें अनुरोध मिला, जिसके बाद हम फ्लैग मार्च के लिए यूनिवर्सिटी में घुसे।

एफआईआर दर्ज, जुटाए जा रहे हिंसा के फुटेज
रंधावा ने आगे बताया, इस मामले में एफआईआर दर्ज की गई है। जांच जारी है। फुटेज जुटाए गए हैं। कुल 34 लोग घायल हुए हैं और सभी को एम्स ट्रॉमा सेंटर से छुट्टी दे दी गई है। उन्होंने कहा, इस केस को क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया है। दिल्ली पुलिस की जॉइंट सीपी वेस्टर्न रेंज, शालिनी सिंह फैक्ट फाइंडिंग कमिटी की हेड होंगी।जेएनयू में रविवार को नकाबपोशों द्वारा छात्रों व टीचर से की गई मारपीट व हिंसा के खिलाफ सोमवार को यूथ कांग्रेस और कांग्रेस की छात्र इकाई ने इंडिया गेट पर टॉर्चलाइट जुलूस निकाला इस दौरान प्रदर्शनकारी मास्क पहनकर शामिल हुए।जेएनयू हिंसा पर बोली छात्रसंघ अध्यक्ष

‘पूर्वनियोजित था हमला, सुरक्षाकर्मी और हमलावर मिले हुए’
नई दिल्ली (एजेंसी)। जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) परिसर में रविवार को हुए हिंसक हमले में घायल हुईं जेएनयूएसयू की अध्यक्ष आइशी घोष ने मामले की तत्काल जांच शुरू करने और वाइस चांसलर जगदीश कुमार को हटाने की मांग की है। आइशी के सिर पर चोट लगी है और उनका एम्स में उपचार किया गया। सिर पर पट्टी बांधे आइशी ने सोमवार को मीडिया से बातचीत में पूरे घटनाक्रम का ब्योरा दिया। उधर, सोमवार को एचआरडी मंत्रालय ने मामले पर बैठक की जिसमें वीसी एम जगदीश कुमार नहीं थे।

उन्होंने कहा, यह पूर्व नियोजित हमला था। उन्होंने लोगों को चुन-चुनकर हमला किया। जेएनयू के सुरक्षाकर्मी और हमलावर मिले हुए हैं। वे हिंसा रोकने के लिए नहीं आए। आइशी ने कहा कि मैंने खुद पुलिस को फोन किया था और मुझे आश्वस्त किया गया था कि किसी तरह की घटना नहीं होगी और कैम्पस से भीड़ को हटा दिया गया है, लेकिन इसके बावजूद 70 लोग आए और हमें रॉड से पीटना शुरू कर दिया। आइशी ने जेएनयू के कुछ प्रोफेसर पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा, पिछले 4-5 दिनों से आरएसएस समर्थित प्रोफेसर ने हमारे आंदोलन को तोडऩे के लिए हिंसा को बढ़ावा दिया। उन्होंने कहा, हम इस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*