Sunday , 30 April 2017
Top Headlines:
Home » Udaipur » धूमधाम से मना बालाजी का जन्मोत्सव

धूमधाम से मना बालाजी का जन्मोत्सव

उदयपुर। रामभक्त हनुमानजी का जन्मोत्सव लेकसिटी सहित पूरे अंचल में धूमधाम से मनाया गया। जन्मोत्सव को लेकर मंदिरों में धार्मिक अनुष्ठानों की धूम मची। दर्शनों के लिए भक्तों का तांता लगा रहा। बालाजी की प्रतिमाओं को आकर्षक आंगी धारण कराई गई। पूजा अर्चना के साथ ही पाठ भी किए गए। भक्तों ने उपवास कर भोग धराया।
हनुमान जयंती के उपलक्ष में धार्मिक कार्यक्रमों की धूम सोमवार से ही शुरू हो गईं। बालाजी मंदिरों सहित अन्य देवालयों में अखंड रामायण पाठ के साथ ही अखंड रामधुन शुरू हुई। यह पाठ और धुन चौबीस घंटे अनवरत चलते रहे। मंगलवार सुबह शुभ मुहूर्त में पाठ की पूर्णाहुति हुई तथा श्रद्धालुओं ने हवन में आहुतियां देकर सुख-समृद्धि की कामना की। शहर के सभी बालाजी मंदिरों में सुबह से ही भक्तों की रेलमपेल शुरू हो गई जो दिनभर चलती रही। पर्व को लेकर बालाजी को आकर्षक आंगी धारण कराई गई।
बदनोर की हवेली स्थित मंशापूर्ण हनुमानजी मंदिर में सुबह अखंड पाठ की पूर्णाहुति हुई। इसके बाद महारूद्राभिषेक हुआ। साथ ही बालाजी का पंचामृत से अभिषेक किया गया। इसके बाद पाग महोत्सव के तहत शोभायात्रा निकाली गई। इस शोभायात्रा में बालाजी की विशाल पाग को एक सजी-धजी बग्घी में रखा गया। साथ ही बैण्डबाजों के साथ ही निकली इस शोभायात्रा में धार्मिक झांकियां भी सजाई गई। शोभायात्रा में बड़ी संख्या में महिलाएं मंगल कलश लेकर चलीं। यह शोभायात्रा मंदिर से रवाना होकर रावजी का हाटा, मीठारामजी के मंदिर, भटियानी चौहटटा, जगदीश चौक, घंटाघर,जडिय़ों की ओल होते हुए वापस मंदिर पहुंची जहां बालाजी को विशेष आंगी धारण कराई। मंदिर में शाम को छप्पनभोग का मनोरथ व महाआरती हुए। फतह स्कूल के सामने स्थित हनुमानजी मंदिर मंदिर में भी सुबह अखंड रामायण पाठ का समापन हुआ। इसके बाद बालाजी को विशेष आंगी धारण कराई गई। शाम को मंदिर में महाआरती और भजनकीर्तन के मनोरथ हुए। देहलीगेट स्थित हठीला हनुमानजी मंदिर में सुबह तेलाभिषेक, रूद्राभिषेक, वैदिक पूजन हुआ। इसके बाद बालाजी को स्वर्ण आंगी धारण कराई गई। शाम को महाआरती हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*