Saturday , 27 May 2017
Top Headlines:
Home » Udaipur » धानमंडी, लखारा चौक से नाड़ाखाड़ा पार्किंग तक जाने का रास्ता साफ

धानमंडी, लखारा चौक से नाड़ाखाड़ा पार्किंग तक जाने का रास्ता साफ

उदयपुर। अति व्यस्ततम मार्ग धानमण्डी से नाड़ाखाड़ा पार्किंग तक जाने के लिए मंगलवार को निगम के अधिकारियों ने कार्रवाई करते हुए रास्ता खोला। इसके लिए जमीन पहले ही अवाप्त कर ली गई थी। नियमानुसार मुआवजा राशि दे दी गई थी। तीन लोगों के भूखण्ड, प्लॉट और दुकानों को अवाप्त किया गया था जिन्हें हटाकर नाड़ाखाड़ा तक वाहन ले जाने का रास्ता बनाया गया।
निर्माण समिति अध्यक्ष ने बताया कि नाडाखाडा में नगर निगम द्वारा पार्किंग बनाई थी, किन्तु लखारा चौक एवं धानमण्डी से रास्ता नहीं मिल पाने के कारण स्थानीय जनता, मण्डी वाजार में चार पहिया वाहन से आने वाले ग्राहक एवं व्यापारीगण इस पार्किंग में अपने वाहन खड़ा नहीं कर पा रहे थे। ऐसे में यह पार्किंग का निर्माण औचित्यहीन लगने लगा था। क्षेत्र में रहने वाले परिवारों के लिए चार पहिया वाहन पार्किंग बड़ी समस्या थी। घरों तथा घरों के बाहर वाहनों को रखने की कोई जगह नहीं थी। कहीं गलियों में रख भी देते थे तो कोई आपदा के समय बाजार में भीड़ एवं संकड़े रास्तों से वाहन निकालना चुनौती भरा काम था। इसको लेकर गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने पूर्व बोर्ड की बैठक में पार्किंग तक पहुंचने के लिए जो भी मकान, प्रतिष्ठान या दुकान बीच में आ रही हो उसे अवाप्त करने के लिए निर्देश दिए थे और उचित मुआवजा देने को कहा था। निगम आयुक्त सिद्धार्थ शर्मा, महापौर चन्द्रसिंह कोठारी ने मार्ग में आ रहे भवन मालिकों के साथ बैठक एवं अथक प्रयास कर रास्ता निकालने पर सहमति बनाई। पार्षद सरोज अग्रवाल ने भी आपसी समझाईश की थी और लोगों को मनाया था।
गृहमंत्री के निर्देश पर मार्च 2017 को पार्किंग स्थल की ओर जाने के बीच में आ रहे समीर गर्ग, जगदीश कुमारी एवं रूद्राक्ष अग्रवाल से उनके स्वयं के स्वामित्व की भूमि व भवन 264 वर्गफीट व 63 वर्गफीट की दुकान का जनहित में रास्ता निकालने के लिए भूमि अधिग्रहित की गई। जिसकी एवज में नियमानुसार मुआवजा राशि के स्थान पर भूखण्ड आवंटन किये जाने का निर्णय लिया तथा भूखण्ड के अतिरिक्त बनने वाली शेष मुआवजा राशि का भुगतान निगम कोष से किया गया। भूमि मिलने के पश्चात निगम द्वारा टीम गठित कर रास्ता खोलने की कार्रवाई की।
निगम से कार्यवाहक उप नगर नियोजक सिराजुद्दीन के नेतृत्व में तथा सहायक उप नगर नियोजक करीमुद्दीन, कनिष्ठ अभियन्ता दिनेश पंचौली, भगवती खारोल, सुनील प्रजापत की देखरेख में मौके पर कार्रवाई हुई। इस कार्रवाई के बाद आखिरकार रास्ता खोल दिया गया। पार्किंग की सुविधा मिलने से क्षेत्रवासियों ने राहत महसूस की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*