Friday , 26 May 2017
Top Headlines:
Home » Udaipur » देश में रियल टाइम डेटा की महत्ती आवश्यकता: गौड़ा

देश में रियल टाइम डेटा की महत्ती आवश्यकता: गौड़ा

उदयपुर। राष्ट्रीय सेंपल सर्वेक्षण के माध्यम से जो आंकड़े प्राप्त होंगे उन आंकड़ों की देश की आगामी नीतियों के निर्धारण में विशेष भूमिका रहेगी। उपभोक्ता मूल्य संकेत, मृत्युदर, स्वास्थ्य संबंधी जानकारी व शिक्षा से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर देश की नई नीति का निर्धारण किया जाएगा। यह विचार भारत सरकार के सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्री डी.वी.सदानंद गौड़ा ने गुरुवार को केंद्रीय सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के अंतर्गत राष्ट्रीय प्रतिदर्श सर्वेक्षण कार्यालय (एनएसएसओ) की ओर से उदयपुर में आयोजित सामाजिक आर्थिक सर्वेक्षण के 75वें दौर के लिए प्रशिक्षकों की अखिल भारतीय कार्यशाला में व्यक्त किए।
मंत्री गौड़ा ने कहा कि भारत जैसे देश में रियल टाईम डेटा, प्रोजेक्ट इंप्लीमेंटेशन के लिये वास्तविकता व सांख्यिकी की प्राथमिक आवश्यकता सटीक, आधुनिक तथा व्यापक सामाजिक एवं आर्थिक चित्रण की जरूरत है। हमारा मंत्रालय इसके लिये राज्य सरकार से सहयोग बनाये रखता है। राष्ट्रीय प्रतिदर्शी सर्वेक्षण के माध्यम से उदयपुर में यह 75 वा एन.एस.एस.ओ. सेमिनार जो पारिवारिक उपभोग पर आयोजित की जा रही है जो गरीबी उन्मुलन में उपयोगी रहेगी तथा भारत निर्माण एवं रोजगार सृजन में सटीक अनुमान लगाये जा सकेंगे।
समारोह में राजस्थान की उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी ने बताया कि राज्य सरकार स्कूल जाने वाले बच्चों का सर्वें करवा कर आंकड़ो के आधार पर उनकी शिक्षा, स्वास्थ्य एवं अन्य आवश्यकताओं के संबंध में योजनाएं बनाने जा रही है।
कार्यशाला को राष्ट्रीय सांख्यिकी आयोग के अध्यक्ष डॉ राधा बिनोद बर्मन तथा भारत के प्रमुख सांख्यिकीविद् एवं सचिव सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय डॉ. टी.सी.ए. अनंत ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर सहित राष्ट्रीय सांख्यिकी आयोग के सदस्यगण, 75वें दौर के कार्य दल के सदस्यगण, एनएसएसओ तथा राज्य अर्थ एवं सांख्यिकी निदेशालय के वरिष्ठ अधिकारीगण और केंद्रीय मंत्रालयों- विभागों के प्रतिनिधि कार्यक्रम में सम्मिलित रहे।
शामिल विषय
एनएसएस के 75 वें दौर (जुलाई 2017 – जून 2018) में पारिवारिक उपभोक्ता व्यय, पारिवारिक सामाजिक उपभोगरू स्वास्थ्य और पारिवारिक सामाजिक उपभोग, शिक्षा विषय शामिल हैं। इस सर्वेक्षण के दौरान स्वास्थ्य और शिक्षा पर पारिवारिक क्षेत्र द्वारा किये गये उपभोक्ता व्यय, जिसमे स्वास्थ्य एवं शिक्षा पर व्यय सम्मिलित है, के बारे में चयनित परिवारों से सूचना एकत्र की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*