Saturday , 29 April 2017
Top Headlines:
Home » Rajasthan » चारभुजा में निकाली बीरबल बादशाह की शाही सवारी

चारभुजा में निकाली बीरबल बादशाह की शाही सवारी

राजसमन्द। फागोत्सव के दौरान चारभुजा कस्बे में शीतला सप्तमी पर सोमवार को जैन समुदाय की और से निकाली जाने वाली परम्परागत बीरबल बादशाह की शाही सवारी को देखने श्रद्धा का सैलाब उमड पडा। वर्षो से चल रही परम्परा मे कुछ भी बदलाव नही आने से लोगों की भीड में कमी आई जबकि वर्षो पूर्व कच्छी गोडी नृत्य, भील समुदाय द्वारा तलवार प्रदर्शन व अखाडा प्रदर्शनी होता था जो अब देखने को नहीं हो रहा है। पुजारियो ने मंशा जताई कि जैन समुदाय इसमें बदलाव लाये तो आसपास से काफी संख्या मे देखने वाले लोगों की भीड के साथ मेले का रूप भी मिल सकता है। सवारी देखने दोपहर दो बजे से ही लोग दूरदराज से महिलाएं व पुरूषों की मंदिर चौक, होली चौक में भीड लगी रही। जैन समुदाय द्वारा दोपहर तीन बजे बीरबल व बादशाह बने कलाकारो को विचित्र वेशभूषा के साथ तैयार किया गया । बीरबल कलाकार बाबूलाल डाकोत हाथ में कोडा लेकर भीड में घूसकर सभी को कोड़े की मार का प्रसाद देकर मनोरंजन भी कर रहा था। वही बादशाह बना कलाकार लक्ष्मणलाल सरगरा भीड को अंगूठा बता बता कर लोटपोट कर रहा था। ठीक 4.30 बजे बीरबल बादशाह की शाही सवारी होली चौक से बैण्ड बाजो व भारी लवाजमे के साथ रवाना हुर्ह जिसके आगे आगे किन्नर नृत्य कर रहे थे। बीरबल कोडे मारकर सबको छका रहा था। जैन समुदाय द्वारा दर्शको पर गुलाल डालकर आनंद ले रहे थे। चारभुजा मंदिर चौक में बादशाह बने कलाकार ने आसन से उतर कर मंदिर की पेडी पर मत्था टेका। इसके एक घंटे बाद के बाद शाही सवारी पुन: होली चौक पहुंच सवारी विसर्जन हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*