Saturday , 27 May 2017
Top Headlines:
Home » Jaipur » कोई नया कर नहीं, सौगातों की बौछार

कोई नया कर नहीं, सौगातों की बौछार

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने बुधवार को वर्ष 2017-18 का बजट पेश करते हुये सिगरेट पर 15′ वैट कर लगाने के साथ ही संपत्ति दस्तावेजों के पंजीयन शुल्क सहित कई श्रेणियों में छूट की घोषणा की है।
वित्त मंत्री के रूप में चौथी बार विधानसभा में बजट पेश करते हुये श्रीमती राजे ने कहा कि आगामी महीनों में जीएसटी कानून लागू होने के मद्देनजर प्रदेश में वैट कर, प्रवेश कर, मनोरजंन कर आदि में छूट दी गयी है। उन्होंने कहा कि इन छूटों से आम लोगों को 200 करोड़ रूपये की राहत मिलेगी वहीं सरकार को मात्र 40 करोड़ रूपये की आय होगी।
बजट में विशेष योग्यजन की पेंशन को एक समान करते हुये 750 रूपये प्रतिमाह करने, मानसिक विमंदित, मूक बधिर एवं नेत्रहीन के आवासीय एवं गैर आवासीय विद्यालयों का संचालन करने वाली स्वयं सेवी संस्थाओं के कार्यरत कर्मचारियों के मानदेय में बढ़ोतरी की गयी है। बजट में आंगनबाडी कार्यकर्ताओं को प्रतिमाह 250 से 500 रूपये तक की प्रोत्साहन राशि देने और विधवा पेंशन में भी बढ़ोतरी की घोषणा की गयी है।
बजट में वर्तमान में वैट नियमों में संशोधन कर ऑनलाइन अपील का प्रावधान करने, वैट और सीएसटी रूल्स के तहत घोषणा पत्रों को अंकित किए जाने की जानकारी छूटे जाने पर आवेदन करने की सीमा एक वर्ष से बढ़ाकर दो वर्ष करने की छूट, सर्टिफिकेट में संशोधन का समय दो माह से बढ़ाकर ज्यादा किया जाना प्रस्तावित है। इसके साथ ही वर्तमान में फॉर्म वैट की त्रुटि में संशोधन के लिए तिथि आगामी 31 मार्च तक बढ़ाई गई है।
बजट में राज्य के व्यापारियों के लिए एंट्री टैक्स में छूट देने, बंद इकाईयों की भूमि का उपयोग अन्य कामों में नहीं करने पर कर में छूट देने, मैट्रो रेल सेवा को दी जा रही बिजली पर सेस सहित कई तरह के टैक्स पर छूट देने के साथ ही पर्यटकों को सस्ती हवाई सेवाओं के लिए एटीएफ की दर कम करने का प्रावधान रखा गया है।
इसके अलावा संपत्ति बेचान पर आम जनता को स्टाम्प ड्यूटी में ढाई प्रतिशत की कमी की गयी। इसके साथ ही ईडब्लूएस तथा एलआईजी के लोगों को मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत दस्तावेजों की पूर्ति करने पर स्टाम्प ड्यूटी पर 60 प्रतिशत और 30 फीसदी रियायत दी गयी है। इसी तरह फैमिली सेटलमेंट के दस्तावेजों पर रजिस्ट्रेशन फीस को भी कम कर अधिकतम 10 हजार रूपये किया गया है।
प्रदेश में युवाओं को प्रोत्सााहन देने एवं स्टार्टअप स्थापित करने के लिए 10 लाख रूपए के दस्तावेजों पर आगामी 31 मार्च से 31 मार्च 2018 तक पूर्ण छूट की घोषणा की गयी।
श्रीमती राजे ने कहा कि प्रदेश में टाईगर संरक्षण प्रोजेक्ट की भांति 7 करोड़ रूपये की लागत से लेपर्ड संरक्षण परियोजना शुरू की जायेगी। इसके अलावा उदयपुर, कुंभलगढ़ और लसाडिय़ा में गल्र्स कॉलेज खोलने, उदयपुर के बहुउद्देश्य पशु चिकित्सालय में कलर डोपलर समेत आधुनिक मशीनें लगाई जाएंगी। इसे टेली मेडिसिन से भी जोडऩे, उदयपुर के झल्लारा पशु चिकित्सा केंद्र को प्रथम श्रेणी पशु चिकित्सालय में अपग्रेड करने की घोषणा की।
उन्होंने कहा कि बजट में आधारभूत ढांचे को बढाने के लिये सड़कों के विकास को प्राथिमकता दी गयी है। उन्होंने कहा कि आगामी दो वर्ष में दो हजार ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर 1200 करोड़ रूपये की लागत से ग्रामीण गौरव पथ अथवा मिसिंग लिंक के निर्माण के कार्य कराये जायेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य राजमार्गों को विकसित करने के लिये 1580 करोड़ रूपये की लागत से 796 किलोमीटर लम्बी 15 परियोजनाओं को आरंभ किया जायेगा।
उन्होंने बजट में धार्मिक महत्व से जुड़ी कई घोषणाएं करते हुये कहा कि वरिष्ठ नागरिकों के लिए तीर्थयात्रा योजना, भगवान को मंदिरों में भोग अर्पण की राशि बढ़ाई। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही अन्य प्रदेश मे स्थित ऐतिहासिक मंदिरों एवं बिहारीजी का मंदिर, गंगा मंदिर, लक्ष्मण मंदिर, भरतपुर, केशवराय मंदिर, केशवरायपाटन-बूंदी एवं सूर्यमंदिर झालरापाटन-झालावाड़ में 20 करोड़ की लागत के विकास कार्य कराए जाएंगे। उन्होंने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों की तीर्थयात्रा के तहत अगले वर्ष 20 हजार नागरिकों को तीर्थ यात्रा करायी जायेगी जिनमें से पांच हजार नागरिकों को हवाई यात्रा कराई जाएगी।
उन्होंने कहा कि राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए छोटे शहरों को हवाई सेवा से जोडऩे के लिये अंर्तराज्यीय सेवायें शुरू की गयी है। इस योजना के तहत जोधपुर, उदयपुर, बीकानेर को राजधानी जयपुर से जोड़ा गया है और शीघ्र ही कोटा, अजमेर एवं रणथंभौर को भी जयपुर के साथ हवाई सेवा से जोड़ा जायेगा।मुख्यमंत्री ने यूं व्यक्त की भावनाएं
जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने विधानसभा में राज्य बजट 2017-18 प्रस्तुत करने के दौरान ये शेर पढ़े:-
जिस दिन से चली हूं, मेरी मंजिल पे नजर है,
आंखों ने कभी मील का पत्थर नहीं देखा।
हौंसले हों अगर बुलंद तो, मुट्ठी में हर मुकाम है,
मुश्किलें और मुसीबतें तो जिन्दगी में आम हैं।
हरेक राह में चिराग जलाना है मेरा काम,
तेवर हवाओं के मैं देखा नहीं करती।
जनता के हर वादे को निभाने की कोशिश की मैंने,
उसके हर हर्फ को इबादत बनाने की कोशिश की मैंने,
मेरे हाथ में जो दस्तावेज हैं, पुख्ता सबूत है इसका,
कि हर जख्म पर मरहम लगाने की कोशिश की मैंने।राजे की बजट घोषणाएंठ्ठ 5000 से ज्यादा कांस्टेबलों की भर्ती होगी।
ठ्ठ सिगरेट पर 15 प्रतिशत वैट बढ़ाया, ऑनलाइन मूवी टिकट सस्ती।
ठ्ठ पर्यटकों को सस्ती हवाई सेवाओं के लिए एटीएफ की दरों में कमी की गई।
ठ्ठ अलवर, बांसवाड़ा, सीकर और भरतपुर यूनिवर्सिटी कैंपस के निर्माण के लिए राशि स्वीकृत की जाएगी।
ठ्ठ ढाई करोड़ की लागत से सात संभागीय मुख्यालयों पर स्मॉल साइंस लैब बनाई जाएंगी।
ठ्ठ आगामी वर्ष में प्रदेश के प्रमुख स्थलों पर वाई-फाई सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।
ठ्ठ बेरोजगारों के लिए रोजगार भत्ता 500 से बढ़ाकर 650 रू. प्रतिमाह किया जाएगा।
ठ्ठ अधिस्वीकृत पत्रकारों की मेडिकल पॉलिसी कैशलेस होगी, पत्रकारों को अब प्रीमियम नहीं देना होगा।
ठ्ठ पैरा टीचर्स और मदरसा टीचर्स के मानदेय में 1 जुलाई, 2017 से 10′ की बढ़ोतरी की घोषणा।
ठ्ठ भीलवाड़ा कपड़ा उद्योग को राहत देते हुए 2 प्रतिशत एंट्री टैक्स में मार्च 2016 से छूट।
ठ्ठ वर्ष 2017-18 में अलवर और डूंगरपुर सहित आठ संग्रहालयों में संरक्षण व विकास कार्य कराए जाएंगे। आगामी साल में 36 करोड़ रूपए की लागत से पर्यटन की आधारभूत सुविधाएं, संरक्षण व जीर्णोद्धार के कार्य कराए जाएंगे।
ठ्ठ 50 वर्ष से अधिक उम्र के अराजपत्रित कर्मचारियों को भी 3 साल में एक बार नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच की सुविधा दी जाएगी।
ठ्ठ सातवें वेतन आयोग के लिए गठित राज्य स्तरीय समिति ने काम शुरू कर दिया है।
ठ्ठ सभी संभाग मुख्यालयों पर साइबर फोरेंसिक सेल की स्थापना की जाएगी।
ठ्ठ अन्नपूर्णा रसोई योजना को आगामी वर्ष से सभी नगरपालिका क्षेत्रों में शुरू किया जाएगा।
ठ्ठ बांसवाड़ा, डूंगरपुर, पाली, अलवर, जोधपुर सहित ज्यादातर जिलों में स्कूलों में विज्ञान संकाय शुरू होगा। प्रदेश के 100 से अधिक कला संकाय वाले स्कूलों में साइंस संकाय शुरू किया जाएगा। 40 से अधिक नामांकन वाले प्राथमिक स्कूलों को क्रमोन्नत किया जाएगा।
ठ्ठ लावारिस की मृत्यु होने पर उसका कर्म कराने वाली संस्थाओं को 5000 रूपए प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।
ठ्ठ बांसवाड़ा सहित कई जिलों में खेल छात्रावास खोले जाएंगे।
ठ्ठ छात्र-छात्राओं के लिए कॅरियर काउंसलिंग की व्यवस्थाएं कराई जाएंगी, बालिका शिक्षा के लिए 5000 रूपए प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।
ठ्ठ बोर्ड परीक्षा में 90 प्रतिशत के अधिक पाने वाली 100 छात्राओं को स्कूटी दी जाएगी।
ठ्ठ जोधपुर, भरतपुर, भीलवाड़ा, दौसा, हनुमानगढ़ में किशोर न्याय अधिनियम के लिए बाल गृह बनाए जाएंगे।
ठ्ठ करौली, जालौर, बारां, बीकानेर, झुंझुनूं, हनुमानगढ़ व प्रतापगढ़ में अस्पतालों में बड़े केंद्र स्थापित किए जाएंगे।
ठ्ठ संस्थागत प्रसव पर भामाशाह प्लेटफार्म पर महिलाओं को भुगतान कराया जाएगा।
ठ्ठ कन्या की शादी पर देय अनुदान राशि व प्रोत्साहन राशि को दोगुना करने की घोषणा।
ठ्ठ आर्थिक रूप से कमजोर महिलाओं की बेटियों को आर्थिक सहायता दी जाएगी।
ठ्ठ सरकार तिरूपति बालाजी और बद्रीनाथ में धर्मशाला बनवाएगी।
ठ्ठ सभी ग्राम पंचायतों में नवीन पशु चिकित्सालय खोले जाएंगे।
ठ्ठ भेड़ पालकों के लिए अविका योजना फिर से चालू की जाएगी।
ठ्ठ खनन प्रभावित क्षेत्र के लोगों के लिए स्वास्थ्य शिक्षा, ऊर्जा आदि पर 500 करोड़ का प्रावधान।
ठ्ठ कारखानों से निकलने वाले कास्टिक सोड़ा को देखते हुए भिवाड़ी में प्लांट लगाए जाएंगे।
ठ्ठ शहरी क्षेत्र में पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए बांसवाड़ा त्रिपुरा सुंदरी, बाड़मेर, जालौर, भीलवाड़ा में स्मृति वन बनाए जांएगे।
ठ्ठ प्रदेश में 60 लाख पौधे दूसरे चरण में लगाने का काम हाथ में लिया जाएगा। इसके लिए 2 करोड़ रूपए का प्रावधान।
ठ्ठ टाइगर व लेपर्ड के लिए रणथंभौर, सरिस्का, झालाना आदि में सुरक्षा के लिए विशेष फोर्स लगाई जाएगी।
ठ्ठ एक लाख किसानों को सॉयल हैल्थ कार्ड की रिपोर्ट के आधार पर मिनीकिट दिए जाएंगे।
ठ्ठ मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना में 60 वर्ष से अधिक आयु की विधवा पेंशनर को 1000 रूपए प्रतिमाह।
ठ्ठ प्रदेश में पर्यटकों की संख्या में 17.38 प्रतिशत की उल्लेखनीय वृद्धि हुई।
ठ्ठ आगामी एक वर्ष में 2 लाख नए कृषि कनेक्शन दिए जाएंगे।
ठ्ठ 5292 करोड़ रूपए की लागत से प्रदेश में 9 लंबित मेजर पेयजल परियोजनाओं को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण किया जाएगा।
ठ्ठ कोटा, अजमेर और सवाई माधोपुर को जयपुर के साथ हवाई सेवा से जोड़ा जाएगा।
ठ्ठ दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थयात्रा योजना में आगामी वर्ष में 20 हजार वरिष्ठ नागरिकों को तीर्थयात्रा करवाई जाएगी।
ठ्ठ खनन पट्टों का आवंटन ई-ऑक्शन के जरिए होगा।
ठ्ठ भामाशाह योजना में 1 करोड़, 38 लाख महिलाओं के नाम परिवार के बैंक खाते खोले।
ठ्ठ दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थयात्रा योजना में आगामी वर्ष में 5 हजार नागरिकों को हवाई मार्ग से तीर्थयात्रा करवाई जाएगी।
ठ्ठ आगामी दो वर्ष में संभाग स्तर पर ग्लोबल राजस्थान एग्रीटेक मीट (ग्राम) का आयोजन होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*