Tuesday , 30 May 2017
Top Headlines:
Home » Udaipur » ऑनलाईन फ्रॉड में विदेशी पकड़ा, गिरफ्तार आरोपी पुन: रिमांड पर

ऑनलाईन फ्रॉड में विदेशी पकड़ा, गिरफ्तार आरोपी पुन: रिमांड पर

Views:
0

उदयपुर। फर्जी नामों से बैंकों में खाते खोलकर उनमें नेट बैंकिंग के जरिये ऑनलाईन ट्रांजेक्शन का छलकपट कर लाखों रूपए की राशि की हेराफेरी कर सोना-चांदी खरीदने व बेच कर मनी को एक नम्बर में कनवर्ट करने वाले दोनों आरोपियों को बुधवार को रिमांड अवधि समाप्त होने पर अदालत में पेश कर पुन: तीन दिन के रिमांड पर लिया है। इन दोनों आरोपियों की निशानदेही से पुलिस मुख्य सूत्रधार व मामले में लिप्त अन्य लोगों को गिरफ्तार करेगी। बताया जा रहा है कि इस मामले में लिप्त नाईजीरियन को मुम्बई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जिससे इस गिरोह के इंटरनेशनल स्तर तक तार जुड़े होने की संभावना है। स्मरण रहे इन आरोपियों से अब तक पुलिस ने साढ़े 11 लाख रूपए नकद व भारी मात्रा में 7 किलो चांदी की सिल्लियां बरामद की।
अम्बामाता थानाधिकारी चंद्र पुरोहित ने बताया कि क्यू रोड भुपालपुरा हाल पद्मावती कॉम्पलेक्स सुखेर निवासी संदीप कुमार पुत्र देवेन्द्र महेन्द्रा व शिक्षा भवन सोसायटी मेन रोड भुपालपुरा निवासी नरेश पुत्र उदयलाल पंचोली को रिमांड अवधि के दौरान ऑनलाईन फ्रॉड के बारे में गहनता से पूछताछ की गई। इन आरोपियों द्वारा विभिन्न बैंकों में खुलाये गये फर्जी चालू व बचत खाते के खाता धारकों की चेकबुक, पासबुक व एटीएम बरामद किये गये। घटनास्थल की तस्दीक की गई। बुधवार को रिमांड अवधि समाप्त होने पर दोनों आरोपियों को अदालत में पेश कर पुन: 14 अप्रेल तक रिमांड पर लिया है। रिमांड अवधि के दौरान अन्तर्राष्ट्रीय व मुम्बई में बैठी महिला डॉन के बारे में गहनता से पूछताछ कर उन्हें गिरफ्तार किया जायेगा। इन आरोपियों ने शहर में अलग-अलग बैंकों में मदनगिरी गोस्वामी, प्रकाश सिंधी, शंकरलाल रावत, धराज गायरी, अमित कालरा, बच्चन ठाकुर, मनोज कुमार, चमनलाल गायरी, पुष्कर गुर्जर आदि अनेक लोगों के नाम से चालू एवं बचत खाते खुलवा कर इनके खातों में अवैध रूप से अन्य के बैंकों के खातों एवं एटीएम कार्ड से छलपूर्वक नम्बर प्राप्त कर राशि ट्रांसफर कराकर हेराफेरी कर गैर बैंकिंग इंटरनेट के जरिये छलकपट कर लाखों रूपए के हेराफेरी कर पैसे निकलवा लिये। थानाधिकारी ने बताया कि इन आरोपियों के पास से अब तक 11 लाख कैश और 7 किलो चांदी की सिल्लियाँ व कई खातों की चेक बुक व एटीएम कार्ड बरामद किए जा चुके है। इन आरोपियों के तार कैलविन उर्फ कैलविक नामक एक विदेशी युवक व मुंबई ठाणे से प्रेमाद्वारका दास सोनी नामक महिला से है। इनके बारे में गहनता से पूछताछ की जा रही है। उधर सूत्रों ने बताया कि इस ऑनलाईन फ्रॉड का मास्टर माइन्ड कैलविन को मुम्बई पुलिस ने हिरासत में ले लिया है जिससे इस धोखाधड़ी के बारे में पूछताछ की जा रही है। उसकी गिरफ्तारी से कई ओर महत्वपूर्ण सुराग पुलिस के हाथ लगेंगे और नये खुलासे होंगे। रिमांड अवधि के दौरान दोनों आरोपियों से छल कपटकर चुराई गई सम्पति के बारे में पूछताछ कर बरामद की जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*