Monday , 24 April 2017
Top Headlines:
Home » India » Utter Pradesh » उ.प्र. में ‘योगी राज’, आदित्यनाथ आज बनेंगे मुख्यमंत्री

उ.प्र. में ‘योगी राज’, आदित्यनाथ आज बनेंगे मुख्यमंत्री

लखनऊ। योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री चुन लिए गए हैं। विधायक दल की हुई बैठक में उनके नाम पर मुहर लगाई गई है। इनके साथ ही भाजपा ने केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा को डिप्टी सीएम नियुक्त किया है। केशव प्रसाद मौर्य जहां भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष हैं, वहीं दिनेश शर्मा लखनऊ के मेयर हैं। यूपी में सीएम कौन बनेगा को लेकर चल रहे सस्पेंस पर अब विराम लग गया है। बताया जा रहा है कि गोरखपुर से लोकसभा सांसद योगी आदित्यनाथ का नाम तब चुना गया जब आरएसएस ने मनोज सिन्हा के नाम के साथ सहमति नहीं जताई।
विधायक दल की बैठक में लिए गए फैसले की जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि बैठक में किसी दूसरे नाम का प्रस्ताव नहीं आया और योगी के नाम का सबने समर्थन किया। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष को फैसले की जानकारी दे दी गई है। वेंकैया ने कहा, विकास हमारा मुख्य एजेंडा और सबका साथ सबका विकास ही हमारा नारा है। यूपी की जनता ने लंबे समय तक धर्म के नाम पर और जातिवाद के नाम पर हुई राजनीति को सहन किया है, अब केवल विकास की बात होगी। उन्होंने बताया कि रविवार दोपहर 2:15 बजे योगी आदित्यनाथ का शपथग्रहण होगा जिसमें पीएम नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद रहेंगे। साथ ही कई राज्यों के मुख्यमंत्री और पार्टी के संसदीय बोर्ड के सदस्य भी मौजूद होंगे।
बताते चलें कि आदित्यनाथ की पहचान विवादित नेता के रूप में रही है। विधानसभा चुनाव में सबसे ज्यादा रैलियां करने वाले आदित्यनाथ पूर्वांचल के सबसे बड़े नेता माने जाते हैं। भाषणों में लव जिहाद और धर्मांतरण जैसे मुद्दों को उन्होंने जोर शोर से उठाया था। आदित्यनाथ का असल नाम अजय सिंह नेगी है और वह उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले से हैं। योगी आदित्यनाथ के नाम सबसे कम उम्र (26 साल) में सांसद बनने का रिकॉर्ड है। उन्होंने पहली बार 1998 में लोकसभा का चुनाव जीता था। इसके बाद आदित्यनाथ 1999, 2004, 2009 और 2014 में भी लगातार लोकसभा का चुनाव जीतते रहे।’सबका साथ-सबका विकास से करेंगे कायाकल्पÓ
लखनऊ। यूपी में जबर्दस्त जीत के बाद भाजपा ने योगी आदित्यनाथ को राज्य का सीएम घोषित कर दिया। शनिवार को विधायक दल की बैठक में आदित्यनाथ को सीएम बनाने का प्रस्ताव पेश किया, जिसे सर्वसम्मति से स्वीकार कर लिया गया। वहीं यूपी भाजपा चीफ केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा को राज्य का डेप्युटी सीएम घोषित किया गया। सीएम नामित होने के बाद आदित्यनाथ ने सबका धन्यवाद दिया।
आदित्यनाथ ने अपने पहले संबोधन में कहा, मैं सबका अभिवादन करता हूं। यूपी जैसे बड़े राज्य को चलाना आसान नहीं है। हमें आपका साथ चाहिए। हम सब मिलकर राज्य का विकास करेंगे। उन्होंने साथ ही कहा, यूपी जैसे बड़े राज्य को चलाना आसान नहीं है, मुझे इसके लिए दो लोग चाहिए। मुझे सबके सहयोग की जरूरत होगी, तभी यूपी को उत्तम प्रदेश बनाया जा सकता है। भाजपा के वरिष्ठ नेता सुरेश खन्ना और सतीश महाना ने आदित्यनाथ का प्रस्ताव रखा। आदित्यनाथ के नाम की घोषणा होते ही उन्हें मंच पर मौजूद ओम माथुर और वेंकैया नायडू ने उन्हें मिठाई खिलाई। यूपी के सीएम नामित होने के बाद अपने पहले संबोधन में आदित्यनाथ ने राज्य के विकास की बात की।
राज्य में सीएम उम्मीदवार चुनने के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में नायडू ने कहा कि योगी रविवार को सीएम पद की शपथ लेंगे। उन्होंने कहा, हमने सभी विधायकों का मन टटोला और सभी वरिष्ठों से बात की। बैठक में सुरेश खन्ना ने योगी आदित्यनाथ के नाम का प्रस्ताव रखा जिसे सतीश महाना, केशव प्रसाद मौर्य समेत 11 विधायकों ने अनुमोदन किया। सभी विधायकों ने खड़े होकर योगी आदित्यनाथ का स्वागत किया। इसके अलावा मौर्य और दिनेश शर्मा को डेप्युटी सीएम पद के लिए नामित किया गया। उन्होंने कहा कि इसके बाद पूरी प्रक्रिया की जानकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को दी गई। उन्होंने कहा, रविवार को दोपहर 2.15 बजे शपथग्रहण समारोह होगा। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, पार्टी संसदीय बोर्ड के सभी सदस्य शामिल होंगे। केंद्र के कुछ वरिष्ठ मंत्री भी शपथग्रहण में शामिल होंगे। इसके अलावा भाजपा शासित प्रदेश के सभी सीएम को भी निमंत्रण भेजा गया है। एनडीए शासित प्रदेश के मुख्यमंत्रियों को भी निमंत्रण भेजा गया है। जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती भी शपथ में शामिल होंगी।
राज्य के डेप्युटी सीएम नामित होने के बाद केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि यूपी को विकास के रास्ते पर ले जाने के लिए पार्टी कार्य करेगी। उन्होंने कहा, आदित्यनाथ को सीएम चुने जाने पर बधाई देता हूं। मुझे जो भी जिम्मेदारी मिली है, मैं उसे पूरी तन्मयता के साथ निभाऊंगा। लोक कल्याण के माध्यम से राज्य का विकास करूंगा।अजय सिंह से कैसे बने योगी आदित्यनाथलखनऊ। भाजपा के फायरब्रांड नेता के रूप में पहचान रखने वाले योगी आदित्यनाथ यूपी के सीएम चुन लिए गए हैं। मात्र 26 साल की उम्र में सांसद बनकर देश की सबसे बड़ी पंचायत पहुंचने वाले आदित्यनाथ का असली नाम अजय सिंह है।
आदित्यनाथ का जन्म उत्तराखंड के गढ़वाल में 5 जून 1974 में एक राजपूत परिवार में हुआ था। गढ़वाल विश्वविद्यालय से गणित में बीएससी करने के बाद वह गोरखनाथ मंदिर के महंत अवैद्यनाथ के संपर्क में आए। महंत से दीक्षा के लेने के बाद वह सांसारिक जीवन छोड़कर आदित्यनाथ बन गए। अवैद्यनाथ ने जब राजनीति से सन्यास लिया तो उनकी जगह आदित्यनाथ गोरखपुर से सांसद चुने गए।
वह अक्सर अपने बयानों से चर्चा में रहते हैं। उनकी छवि हिंदू ह्रदय सम्राट की है। वह संसद में भी हिंदू समुदाय से जुड़े हुए मुद्दों को उठाते रहे हैं। योगी पर कई बार कानून को हाथ में लेने के आरोप लगते रहे है। गोरखपुर दंगों में भी उनका नाम आया। अब वह गोरखनाथ मठ के महंत हैं। उनके समर्थक पहले ही उन्हें मुख्यमंत्री बनाने की मांग करते रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*