Sunday , 23 April 2017
Top Headlines:
Home » India » Utter Pradesh » उप्र में योगी राज शुरू

उप्र में योगी राज शुरू

लखनऊ। गोरक्षपीठाधीश्वर और गोरखपुर के सांसद योगी आदित्यनाथ ने रविवार को यहां उत्तर प्रदेश के 32वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। समारोह के पश्चात उन्होंने कार्यभार भी संभाल लिया।
उनके साथ दो उपमुख्यमंत्रियों केशव प्रसाद मौर्य और डॉ. दिनेश शर्मा ने भी शपथ ली। मौर्य भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और फूलपुर से सांसद हैं जबकि शर्मा लखनऊ के मेयर हैं।
योगी मंत्रिमण्डल में 22 कैबिनेट, 9 राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और 13 राज्यमंत्रियों को शामिल किया गया है। यह शपथग्रहण समारोह लखनऊ के कांशीराम स्मृति उपवन में आयोजित किया गया। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और कई केंद्रीय मंत्रियों सहित एनडीए के कई अन्य मुख्यमंत्री भी मौजूद रहे। परंपरा निभाते हुए प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी नई सरकार के शपथग्रहण समारोह में शिरकत की। मुख्यमंत्री व उप मुख्यमंत्री को शामिल कर कुल 17 ओबीसी, 6 अनुसूचित जाति, 7 ठाकुर, 8 ब्राह्मण, 8 कायस्थ-वैश्य, 2 जाट और 1 मुस्लिम की यूपी मंत्रिमंडल में हिस्सेदारी है।
70,000 से भी ज्यादा लोग नई सरकार का शपथग्रहण देखने पहुंचे। कांशीराम स्मृति उपवन, जहां यह शपथग्रहण हुआ, उसके बाहर कई किलोमीटर तक गाडिय़ों का तांता लगा रहा। बड़ी संख्या में आम लोग भी इस कार्यक्रम को देखने और नेताओं की एक झलक पाने के लिए यहां पहुंचे। ना केवल लखनऊ, बल्कि प्रदेश के अन्य हिस्सों से भी आम लोग इस अवसर के साक्षी बने।
भाजपा ने 14 साल बाद उत्तर प्रदेश की सत्ता में वापसी की है। 403 सीटों की उत्तर प्रदेश विधानसभा में अकेले भाजपा को 312 सीटें मिली हैं। भाजपा गठबंधन को कुल मिलाकर 325 सीटें हासिल हुई हैं। लखनऊ। सियासी लिहाज से देश के सबसे बड़े सूबे यूपी के मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी संभालते ही योगी आदित्यनाथ ने साफ किया है कि उनकी सरकार का अजेंडा विकास का होगा। बतौर मुख्यमंत्री अपने पहले ट्वीट में आदित्यनाथ ने कहा है कि उनकी सरकार युवाओं के रोजगार के सपनों को पूरा करने और स्वरोजगार के मौकों को बढ़ाने के लिए काम करेगी। उन्होंने कहा कि युवाओं को रोजगार के ढेरों विकल्प स्थापित करने के लिए कौशल विकास केंद्रों की संख्या में इजाफा किया जाएगा और इनके जरिए प्लेसमेंट में सहायता दी जाएगी। एक और ट्वीट में यूपी के नए सीएम ने सूबे की जनता की उम्मीदों के मुताबिक बदलाव की बात कही है।
दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्रियों केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा को बधाई दी है और उन्हें यूपी की सेवा करने के लिए शुभकामनाएं दी। प्रधानमंत्री ने उम्मीद जताई कि नई टीम यूपी को उत्तम प्रदेश बनाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी और सूबे में रेकॉर्ड विकास होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने लिखा, विकास हमारा इकलौता मिशन और उद्देश्य है। जब यूपी विकास करेगा तो भारत विकास करेगा। हम यूपी के युवाओं की सेवा करना चाहते हैं और उनके लिए अवसर सृजित करना चाहते हैं।
(शेष पेज 8 पर) ”हमारी सरकार बिना भेदभाव के काम करेगीÓÓलखनऊ। यूपी के सीएम का पद संभालने के बाद योगी आदित्यनाथ ऐक्शन में आ गए हैं। रविवार को उन्होंने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में राज्य में ”सबका साथ, सबका विकासÓÓ के अजेंडे के साथ काम करने का वादा दोहराया। योगी ने सभी मंत्रियों को 15 दिन के अंदर संपत्ति का ब्यौरा देने का निर्देश दिया है। इसके अलावा सीएम ने कैबिनेट मंत्रियों को अनाप-शनाप बयान से बचने की नसीहत भी दी है। सीएम ने पूर्व की सरकारों पर राज्य को विकास की दौड़ में पिछडऩे के लिए जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि राज्य के विकास के लिए उनकी सरकार तुंरत सकारात्मक कदम उठाएगी। सीएम ने कहा कि राज्य में युवाओं को रोजगार देने के लिए बड़े कदम उठाए जाएंगे और गरीब तथा किसान उनकी प्राथमिकता सूची में सबसे ऊपर हैं।
आदित्यनाथ ने भाजपा के शपथग्रहण समारोह को ऐतिहासिक दिन बताते हुए कहा, भाजपा सरकार लोक कल्याण संकल्प पत्र 2017 में किए गए सभी वादों को पूरा करेगी। मैं राज्य की जनता को यह आश्वस्त करता हूं राज्य सरकार यूपी को विकास और खुशहाली के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ाने के लिए सभी प्रभावी कदम उठाएगी। राज्य की पूर्ववर्ती सरकारों पर भ्रष्टाचार और परिवारवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए सीएम ने कहा, राज्य में बिना भेदभाव के विकास किया जाएगा। यूपी की बदहाल कानून-व्यवस्था को जल्द ही ठीक किया जाएगा। महिलाओं की सुरक्षा सशक्तिकरण और सम्मान के लिए कोई कोर कसर बाकी नहीं रखेगी। सीएम ने साथ ही कहा कि नए विधायकों को ट्रेनिंग भी दी जाएगी।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार यूपी के पिछड़े और गरीब तबकों के लिए विशेष काम करेगी। उन्होंने कहा, राज्य सरकार कृषि को बढ़ावा देने के लिए प्रयास करेगी। कृषि, किसान और खेतिहर मजदूर इस सरकार की प्राथमिकता सूची में है। शिक्षा को बढ़ावा देने से लेकर भोजन, आवास, स्वास्थ्य तथा परिवहन हर तरह की सुविधाओं के लिए सरकार काम करेगी। उन्होंने कहा कि यूपी में भाजपा को आदेश मिला है उसका सकारात्मक परिणाम जल्द ही मिलेगा। आदित्यनाथ ने कहा, राज्य की कानून-व्यवस्था को पूरी तरह चाक-चौबंद किया जाएगा। इसके लिए शासन-प्रशासन को जिम्मेदार बनाया जाएगा। सरकारी नौकरी में नियुक्ति को भ्रष्टाचारमुक्त किया जाएगा। राज्य में उद्योग को बढ़ावा देने के लिए हर प्रयास किया जाएगा। सीएम ने साथ ही बताया कि सिद्धार्थनाथ सिंह और श्रीकांत शर्मा राज्य सरकार के प्रवक्ता होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*