Wednesday , 11 December 2019
Top Headlines:
Home » Political » उद्धव 169 से पास

उद्धव 169 से पास

भाजपा समेत 115 विधायकों का वॉकआउट
मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। उद्धव सरकार ने महाराष्ट्र विधानसभा में अपना फ्लोर टेस्ट पास कर लिया है। सरकार के पक्ष में 169 वोट पड़े हैं, जो बहुमत के आंकड़े से 24 वोट अधिक है। हालांकि, इस दौरान 4 विधायक तटस्थ रहे। यानी इन विधायकों ने न तो उद्धव सरकार के समर्थन में किया और न ही विपक्ष में वोटिंग की।
इसमें असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के दो विधायक, राज ठाकरे की पार्टी मनसे के एक विधायक और सीपीआई-एम के एक विधायक शामिल हैं। फ्लोर टेस्ट से पहले भाजपा के विधायकों ने वॉक आउट कर दिया था। भाजपा के वॉकआउट की वजह से 115 विधायक सदन में मौजूद नहीं रहे।क्या है बहुमत का आंकड़ा
महाराष्ट्र विधानसभा में कुल सीटें 288 हैं। बहुमत के लिए कम से कम 145 विधायकों का समर्थन जरूरी है। शिवसेना के 56, एनसीपी के 54, कांग्रेस के 44 विधायकों को मिलकर आंकड़ा 154 है। इन सभी विधायकों ने सरकार के पक्ष में वोट डाला। इनके अलावा छोटे दलों और निर्दलीय विधायकों ने भी उद्धव सरकार के पक्ष में वोट डाला।
इन छोटे दलों ने किया समर्थन
महा विकास अघाड़ी को 169 विधायकों का समर्थन मिला। उद्धव सरकार के पक्ष में शिवसेना के 56, एनसीपी के 54, कांग्रेस के 44, सपा के 2, स्वाभिमानी शेतकारी के एक, बहुजन विकास अघाड़ी के 3, पीडब्लूपी के एक और निर्दलीय 10 विधायक रहे। इसमें एनसीपी के एक विधायक को प्रोटेम स्पीकर बना दिया गया था, इस वजह से 169 विधायकों ने वोट डाला।विपक्ष का नेता बनने की होड़
फ्लोर टेस्ट के बाद एनसीपी नेता छगन भुजबल ने भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि देवेंद्र फडणवीस के सामने विपक्ष का नेता बनने की होड़ है। पहले भाजपा को फैसला लेना है कि विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस हैं या चंद्रकांत पाटिल।राज ने चौंकाया, उद्धव को वोट नहींमुंबई (कार्यालय संवाददाता)। महाराष्ट्र विधानसभा में शनिवार को हुए फ्लोर टेस्ट में शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन ने आसानी से बहुमत साबित कर दिया। उद्धव सरकार को बहुमत के लिए 145 वोट चाहिए थे, जो उसने आसानी से हासिल कर लिए। शिवसेना के पक्ष में कुल 169 वोट पड़े। दिलचस्प बात यह है कि उद्धव ठाकरे के चचेरे भाई राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने किसी के भी पक्ष में वोट नहीं दिया और सदन में तटस्थ रही। इससे पहले उद्धव के शपथग्रहण समारोह में भी राज ठाकरे पहुंचे थे, जिसके बाद इस बात पर सबकी नजरें टिकी थीं कि बहुमत परीक्षण में एमएनएस किसका साथ देगी।
फ्लोर टेस्ट के दौरान शिवसेना को 169 वोट मिले, जिसमें से 145वां वोट पारनेर से विधायक नीलेश लनके ने दिया। दिलचस्प बात यह रही है कि अभी तक राज्य की सियासी उठापटक से दूर रही राज ठाकरे की पार्टी एमएनएस ने ऐन मौके पर कोई पक्ष नहीं लिया और शिवसेना के खिलाफ वोट नहीं दिया। विधानसभा में एमएनएस का एक विधायक है।फ्लोर टेस्ट पास होने के बाद बोले उद्धव’मैं मैदान में लडऩे वाला आदमीÓ
मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। महाराष्ट्र विधानसभा में बहुमत परीक्षण पास करने के बाद सीएम उद्धव ठाकरे ने अपने ही अंदाज में विपक्ष पर जोरदार हमला बोला। 30 सालों तक सहयोगी पार्टी रही भाजपा के वॉकआउट पर तंज कसते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैं अब तक मैदान में लडऩे वाला आदमी रहा हूं, लेकिन यहां जो व्यवहार देखा, उससे लगा कि मैदान ही सही था। उद्धव ने कहा कि सरकार का समर्थन करने के लिए मैं विधायकों का आभार व्यक्त करता हूं।
भाजपा की ओर से मंत्रियों की शपथ को गलत करार देने और संविधान के नाम की शपथ न लिए जाने के आरोप पर भी उद्धव ठाकरे ने हमला बोला। उन्होंने कहा कि हमारा कोई विरोध नहीं है। हमने यदि सभी महापुरूषों का नाम लेकर शपथ ली तो आखिर क्या गलत है। मैं बार-बार इस तरह से शपथ लूंगा। उन्होंने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज या बाबा साहेब आंबेडकर के नाम की शपथ लेना गलत नहीं है। (शेष पेज 8 पर)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*